MSEFC एक्सीलेंस अवार्ड मिलने पर MSME विभाग को CM शिवराज ने दी बधाई, कमलनाथ से पूछा एक और सवाल

2/28/2023 12:37:56 PM

भोपाल(विवान तिवारी) : मध्यप्रदेश लगातार उपलब्धियां हासिल कर रहा है। ये अत्यंत गौरव का विषय है। प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना के योजना के क्रियान्वयन में प्रथम स्थान प्राप्त करने के बाद मध्य प्रदेश के एमएसएमई विभाग को केंद्र सरकार से एमएसएमई के विलंबित भुगताओं के निराकरण के लिए सूक्ष्म और लघु उद्योग उधम फैसिलिटेशन काउंसिल को स्ट्रांग देकर रिकवरी प्रोसीजर एवं प्रकरणों के त्वरित निराकरण के लिए एमएसईएफसी एक्सीलेंस अवार्ड 2022 प्रदान किया गया है। मैं एमएसएमई विभाग को इस उपलब्धि के लिए बहुत-बहुत बधाई देता हूं।

• सामाजिक क्षेत्र में लगातार योगदान देने वालों पर

सामाजिक क्षेत्रों में लगातार हमारे कई लोग समाज सेवा के नए प्रतिमान गढ़ते हैं। भोपाल के बीएचईएल से रिटायर्ड कर्मचारी आज आसुधो लछवानी 73 साल की उम्र है उनकी और हिरदाराम नगर में संत जी की कुटिया के पास ही रहते हैं। सादगी से भरी जीवनशैली लेकिन इन्होंने कैरियर निर्माण के लिए अनेक नौजवानों का मार्गदर्शन किया, इनके मार्गदर्शन से कई डॉक्टर, इंजीनियर, चार्टर्ड अकाउंटेंट्स, कंपनी सेक्रेटरी बनकर में आज कई मित्र प्रतिष्ठित संस्थानों में सेवाएं दे रहे लछवानी जी ने 40 सालों से अभाव ग्रस्त बच्चों के शिक्षण के लिए शिक्षण शुल्क और शिक्षण सामग्री जुटाने का काम किया है। मैं उनको बहुत बहुत धन्यवाद देता हूं।

ऐसे ही एक और सेवा का जुनून देखने मिला हमें बालाघाट जिले में कान्हा राष्ट्रीय उद्यान के समनापुर बफर जोन में पदस्थ परिक्षेत्र अधिकारी सीता जमरा गांव में युवाओं के लिए निशुल्क लाइब्रेरी चला रहे हैं। यह लाइब्रेरी सर्व सुविधा युक्त कमरों में नहीं है वन आकार कमरों में संचालित हो रही है और हर गांव के आसपास के 25- 25 युवा इस लाइब्रेरी में आकर रोज पढ़ते हैं, हर तरह की प्रतियोगी परीक्षा संबंधी किताबें, समाचार पत्र, अर्ध शासकीय विभागों की रिक्तियां संबंधी जानकारी यहां पर उपलब्ध रहती है। सीता जमरा जी को वन और वन्य प्राणियों की सुरक्षा के अतिरिक्त युवाओं को शिक्षित करने के अभियान के लिए हार्दिक बधाई देता हूं।

• कमलनाथ के राज्यपाल के अभिभाषण वाले बयान पर

कांग्रेस झूठ बोलने की दुकान है। झूठ परोसने की दुकान है। अब मेरे बारे में कुछ कहते रहे मैंने आपत्ति नहीं की लेकिन कल कमलनाथ ने राज्यपाल के अभिभाषण पर झूठ बोलने की टिप्पणी की है। उन्होंने झूठ बोलने का आरोप लगाया, राज्यपाल संवैधानिक पद है कम से कम संवैधानिक पद पर बैठे सम्मानीय राज्यपाल जी के बारे में कहना कि उनसे झूठ बुलवाया यह लोकतंत्र की गरिमा गिराने का काम है। अब झूठे वादे आप करो सवाल पूछे तो उत्तर ना दो और चीजें गोल मोल करने के लिए दूसरों पर झूठ बोलने का आरोप लगाओ ये कांग्रेस की शैली है।

• कमलनाथ से सवाल

मैं आज फिर पूछ रहा हूं आप कितने झूठ बोलते हैं? आपने कहा था वचन दिया था संभाग स्तर पर कन्याओं के लिए आवासीय खेल स्कूल खोले जाएंगे। सवा साल की सरकार में एक भी ऐसा स्कूल खोला क्या इसका तो जवाब दो?


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Related News

Recommended News