सिंधिया की शान में 3 सौ करोड़ रुपए का बन रहा राजपथ! कांग्रेस के साथ बीजेपी को भी एतराज

12/21/2021 1:59:21 PM

ग्वालियर(अंकुर जैन): राजपथ का जिक्र होते ही आपके दिमाग में दिल्ली में राष्ट्रपति भवन की ओर जाने वाली सड़क की तस्वीर सामने आ जाएगी। लेकिन आज हम दिल्ली के राजपथ की नहीं बल्कि मध्य प्रदेश के ग्वालियर शहर में बनने वाले राजपथ की बात करने जा रहे हैं। ये सड़क जो 3 सौ करोड़ रुपए खर्च करके बनाई जा रही है और केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के महल तक जाएगी। इस सड़क के निर्माण के साथ सियासत भी शुरू हो गई है। कांग्रेस इसे एक नेता विशेष को खुश करने के लिए जनता की गाढ़ी कमाई को बर्बाद करने का आरोप लगा रही हैं, तो वही बीजेपी के सांसद ने भी इस रोड़ के नाम को लेकर एतराज जताया है। 

PunjabKesari

दरअसल, आजादी से पहले ग्वालियर के महाराजा सिंधिया के महल जयविलास पैलेस से कुलदेवी मांढरे की माता तक जाने के लिए जो विशेष मार्ग बनाया गया था। उसे ग्वालियर की स्मार्ट सिटी के बजट से 300 करोड़ रुपए खर्च करके नए रुप में स्मार्ट रोड बनाया जा रहा है। इस प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए खर्चे की रकम को बढ़ाया भी जा सकता है। यह रोड बन जाने के बाद यहां से निकलने वालों को एहसास होगा, कि वह महाराजा के महल के सामने राजपथ से गुजर रहे हैं। यह रोड केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के निवास महल, जय विलास पैलेस के सामने से होते हुए अचलेश्वर मंदिर, सिंधिया की छतरी एमएलबी कॉलेज, मेडिकल कॉलेज होते हुए कंपू के रास्ते आगे तक जाएगी।

PunjabKesari

कांग्रेस ने उठाए सवाल
स्मार्ट सिटी के प्रोजेक्ट के शुरू होते ही कांग्रेस ने सवाल उठाने शुरु कर दिए हैं। कांग्रेस कहना है, कि यह रोड सिंधिया को खुश करने के लिए बनाया जा रहा है क्योंकि रोड जयविलास पैलेस से सिंधिया की छतरी होते हुए आगे जाएगी। बता दें कि कुछ ही साल पहले करोड़ों रुपए खर्च करके इस रोड को थीम रोड के तौर पर डेवलप किया गया था। लेकिन अब एक बार फिर से इसे राजपथ के तौर पर विकसित किया जा रहा है, जिस पर कांग्रेस ने जनता की गाढ़ी कमाई का दुरुपयोग करने का आरोप लगाए हैं।

PunjabKesari

रोड के नाम को लेकर भाजपा नेता ने उठाए सवाल
वहीं बीजेपी सांसद विवेक शेजवलकर ने रोड के नाम को लेकर विरोध जताया हैं। उनका कहना है कि इस रोड का नाम किस के कहने पर रखा गया है। ये समझ के परे है, क्योंकि किसी भी सड़क के नामकरण से पहले उसका निगम में ठहराव प्रस्ताव आता है। लेकिन राजपथ रोड को लेकर ऐसा कुछ नहीं हुआ है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Related News

Recommended News