MP में जहरीली शराब पीने से 3 की मौत, कमलनाथ बोले- शिवराज जी! माफिया कब गड़ेंगे, कब टगेंगे...?

7/26/2021 11:47:48 AM

मंदसौर(प्रीत शर्मा): मध्य प्रदेश में जहरीली शराब के कारोबार को रोकने में प्रशासन विफल नजर आ रही है। उज्जैन, ग्वालियर, भिंड और सतना के बाद अब मंदसौर में फिर इस जहर ने तीन लोगों की जिंदगी लील ली। घटना जिले के खखराई गांव की है। गांव में एक साथ तीन लोगों की मौत से कोहराम मच गया है। वहीं तीन अन्य की हालत गंभीर बनी हुई है जिन्हें इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया है। हालांकि घटना के बाद प्रशासन ने शराब माफिया के घर पर बुलडोजर चला कार्रवाई की है।

PunjabKesari

जानकारी के मुताबिक, कुछ लोगों ने शनिवार की रात शराब पी थी। रविवार को शराब पीने वाले 3 लोगों की मौत हो गई जबकि 3 की हालत बिगड़ गई। इस घटना की जानकारी जैसे ही प्रशासन को लगी तो माफिया पर ताबड़तोड़ कार्रवाई की है। गांव में स्थित शराब माफिया पिंटू सिंह का घर जमींदोज कर दिया। इसके साथ ही आबकारी विभाग के एसआई नरेंद्र डामोर को निलंबित कर दिया है। इसके साथ पिपलिया मंडी डीआई को भी लाइन अटैच कर दिया गया है।

PunjabKesari

इस घटना के बाद से मामले को लेकर राजनीति शुरु हो गई। पूर्व सीएम कमलनाथ ने कहा कि शिवराज सरकार में प्रदेश के उज्जैन, मुरैना, भिंड और ग्वालियर के बाद अब प्रदेश के मंदसौर जिले के खखराई गांव में जहरीली शराब से तीन से लोगों की मौत और कुछ की हालत गंभीर होने की खबर सामने आई है। प्रदेश के आबकारी मंत्री के क्षेत्र की यह स्थिति? उन्होंने कहा कि पता नहीं शिवराज सरकार में माफिया कब गड़ेंगे, कब टगेंगे, कब लटकेंगे? प्रदेश में माफियाओं के हौसले बुलंद।


वहीं, घटना पर वित्त मंत्री जगदीश देवड़ा ने कहा कि खखराई की घटना दुर्भाग्यपूर्ण है। मैंने कलेक्टर और एसपी से इस घटनाक्रम को लेकर चर्चा की है और जांच कर तत्काल दोषियों पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। कोई भी दोषी बख्शा नहीं जाएगा। मैं हताहतों के प्रति संवेदना प्रकट करता हूं। इस मामले में आबकारी एएसआई नरेंद्र डामोर को निलंबित किया गया है और आगे की कार्रवाई लगातार जारी है। इस घटना में जो भी दोषी हैं, उनके खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी। 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Recommended News

static