‘पेट्रोल 200 रुपए भी होता तो वोट मोदी जी को देता’ छात्रा बोली- 9 रुपए से क्या होता है...पेट्रोल की कीमतें कम होने के बाद जानिए लोगों की राय

5/22/2022 7:19:45 PM

भोपाल(विवान तिवारी): पेट्रोल और डीजल की कीमतों में आई गिरावट के बाद देश भर से लोगों की अलग-अलग प्रतिक्रियाएं आ रही है। इसी कड़ी में पंजाब केसरी आज मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के प्रगति पेट्रोल पंप पर पहुंचा और वहां पर लोगों से बातचीत की इस दौरान पेट्रोल डलवा रहे एक छात्र ने यह कहा कि अगर पेट्रोल 200 लीटर भी हो जाए तो भी मैं वोट मोदी जी को ही दूंगा। वही उसने यह बताया कि वह कबड्डी का खिलाड़ी है और जब उससे यह पूछा गया कि खेल को लेकर के सरकार आपको सहयोग कर रही है क्या आप इसलिए तो खुश नहीं है तो उसने कहा कि सिर्फ खेल ही नहीं देश के कई अन्य तमाम मुद्दों में सरकार बहुत अच्छा काम कर रही है। एक अन्य युवक से जब बात की गई तो वह भी हंसते हुए कहा कि मैं इसके लिए मोदी सरकार का धन्यवाद देना चाहूंगा कि उन्होंने पेट्रोल की कीमतों में गिरावट लाई। वही एक निजी कंपनी में काम करने वाले व्यक्ति से जब कीमतों को लेकर बातचीत की गई तो उन्होंने कहा कि पेट्रोल 100 लीटर आना चाहिए परिवार के लिए यह बहुत अच्छा नहीं हुआ। लॉ की पढ़ाई कर रही एक छात्र से जब कीमतों को लेकर के बात की गई तो उन्होंने यहां कहा कि बहुत ज्यादा कम नहीं हुआ 9 रू कुछ बहुत ज्यादा कीमत नहीं होती है पेट्रोल और ज्यादा कम होना चाहिए।

PunjabKesari

मोदी सरकार ने दी बड़ी राहत
आपको बता दें कि पेट्रोल-डीजल पर लोगों को मोदी सरकार ने शनिवार को बड़ी राहत दी। केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में गिरावट करते हुए 8 और 6 रूपए की एक्साइज ड्यूटी कम कर दी और इसके बाद तेल कंपनियों ने आज रविवार के दिन पेट्रोल और डीजल की नई कीमतें जारी कर दी। बात करें राजधानी भोपाल में पेट्रोल की कीमतों की तो फिलहाल पेट्रोल 108.65 पैसे बिक रहा है। मध्यप्रदेश में वैट की गणना करने के बाद पेट्रोल का भाव प्रदेशभर के अलग-अलग शहरों में करीब 10 और डीजल 7 प्रति लीटर तक कम हो गया। राजधानी भोपाल में डीजल का रेट 93.73 प्रति लीटर है जो 1 दिन पहले 101.16 पैसे था।

PunjabKesari

बीते कुछ दिनों पहले लगातार बढ़े थे पेट्रोल- डीजल के दाम
बीते मार्च-अप्रैल माह में देश भर में पेट्रोल और डीजल के दाम लगातार बढ़ रहे थे इसको लेकर के विपक्ष के निशाने पर नरेंद्र मोदी  सरकार थी। 15 दिनों तक लगभग लगातार डीजल और पेट्रोल के दाम बढ़ रहे थे और नतीजा यह निकला था कि पेट्रोल 10 प्रति लीटर महंगा हो चुके थे। आपको बता दें कि तेल के दाम ऐसे समय में बढ़ रहे थे जब ग्लोबल मार्केट में क्रूड ऑयल की कीमतें कम हो रही थी और ऐसे में हर कोई यही सवाल पूछ रहा था कि जब क्रूड ऑयल सस्ता हो रहा है तब डीजल पेट्रोल लगातार महंगा क्यों हो रहा है। इन मामलों के जानकारों का यह कहना था कि लगातार चार महीने तक पेट्रोल डीजल की कीमतें स्थिर थी इस वजह से इनके दामों में बढ़ोतरी हुई। आपको बता दें कि 22 मार्च से लगातार लगभग 10 से 15 दिनों तक पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ रहे थे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Related News

Recommended News