धूमधाम से हुआ कुत्ते-कुतिया का विवाह, 800 से ज्यादा मेहमानों ने की शिरकत

1/9/2021 4:09:54 PM

निवाड़ी: सचमुच एमपी अजब है और यहां के लोग भी गजब है। इसका ताजा उदाहरण निवाड़ी में देखने को मिला। जहां एक कुत्ते-कुतिया की शादी बड़ी धूमधाम से की गई। खास बात यह की शादी पूरे हिंदू रीति-रिवाज के साथ हुई। इस शादी में एक भी ऐसा इवेंट नहीं था जिसमें लगा हो कि यह जानवरों की शादी है। शादी में नाच-गाना भी हुआ और गांव के करीब 800 लोगों को इस शादी में दावत भी दी गई। अब सोचने वाली बात यह कि आखिरकार कुत्ते-कुतिया की शादी करने की नौबत क्यों आई। दरअसल, लोगों ने यह सब कुछ इंद्र देव को खुश करने के लिए किया।

PunjabKesari

शादी का हमारे समाज बहुत महत्व है। इसे सात जन्मों का बंधन समझा जाता है। लेकिन मध्य प्रदेश के पुछीकरगुवा गांव में एक अजीबो-गरीब शादी हुई। इस शादी से हर कोई हैरान-परेशान है। दरअसल मध्य प्रदेश के निवाड़ी जिले के ग्राम पुछीकरगुआ निवासी मूलचंद नायक ने अपनी रश्मि नाम की डॉगी की शादी उत्तर प्रदेश के बकवा खुर्द निवासी अशोक यादव के गोलू नाम के कुत्ते के साथ हिंदू रीति-रिवाज अनुसार कराई गई।

PunjabKesari

बड़े ही धूमधाम से गांव के लोगों ने इस शादी में हिस्सा लिया। इसके साथ ही मूलचंद नायक और उनके परिजनों ने नम आंखों से डॉगी रश्मि को विदाई भी दी। इतना ही नहीं शादी में 800 लोगों को भोज भी कराया गया था। इस शादी के पीछे की वजह बड़ी ही रोचक है।

PunjabKesari

दरअसल, पुछीकरगुवा गांव के लोग कई दिनों से पानी की कमी से जूझ रहे थे। पीने के पानी के लिए तो लोग तरसते हैं। महिलाओं बहुत दूर जाकर घंटों लाइन में लगकर पानी लाना पड़ता है। गांव के लोगों का मानना है कि अगर दो मूक जानवरों की शादी करवा दी जाए तो इंद्रदेव खुश हो जाते हैं। इसलिए अपनी परेशानी को दूर करने के लिए उन्होंने कुत्ते और कुतिया की शादी करवाई है। गांववालों का मानना है कि इस शादी से उन लोगों की पानी की दिक्कत खत्म हो जाएगी।
 


meena

Related News