घर छोड़ा, शहर छोड़ा, राज्य छोड़ा...फिर भी नहीं छोड़ रहा पीछा, इस शख्स से पिछले जन्म की दुश्मनी निभा

4/6/2021 1:26:53 PM

बैतूल(रामकिशोर पवार): सांपों को देखते ही हर किसी को पसीना छूट जाता मानों जैसे काल सामने खड़ा हो। लेकिन सोचों यदि हर जगह, हर पल सांप आपका पीछा ही न छोड़े। सच में इसका इमेजीनेशन करना भी डरा देता है लेकिन मध्यप्रदेश के बैतूल में चौंका देने वाला मामला सामने आया है जो सुनने में थोड़ा अजीब है परन्तु सत्य है। यहां एक शख्स ऐसा है जिससे सांपों की ऐसी दुश्मनी है कि इसे 13 बार काटा और जान का दुश्मन बन गया। जिसके चलते परिवार को गांव, प्रदेश तक छोड़ना पड़ा परन्तु सांपों ने पीछा नहीं छोड़ा।

PunjabKesari

सांप और इंसान की दुश्मनी के किस्से फिल्मों में तो देखने और सुनने को मिलते हैं लेकिन बैतूल के ग्राम पंचायत बोरीकास निवासी फतन सरियाम 45 वर्ष के साथ घटने वाली घटना बेहद अजीब है जिसे हमेशा सांपों के काटने का डर बना रहता है और इसके चलते फगन ने 13 बार मौत को मात दी है।

PunjabKesari

फतन सरियाम एक किसान है जो बैतूल के ग्राम बोरीकास में अपनी पांच एकड़ जमीन से पत्नी एक बेटा और दो बेटियों का भरण-पोषण करता है परन्तु दो वर्ष से सांप इसके दुश्मन बन गए और इसे काटने लगे। कभी घर में कभी खेत तो कभी रास्ते में परेशान फगन को क्या बाबा और ओझा से हर प्रकार की पूजा अर्चना करने पर भी समस्या से हल नहीं मिला।

PunjabKesari

फगन की मानें तो सांप के डर से गांव, जमीन, घर छोड़ कर महाराष्ट्र के सिरजगांव में परिवार के साथ मेहनत मजदूरी करने लगा परन्तु वहां भी सांपों ने उसका पीछा नहीं छोड़ा। गांव सहित महाराष्ट्र के सिरजगाव में सांपों ने 6-7 बार उसे डंस दिया जिसका इलाज अचलपुर, अमरावती में करवाया गया। इतना ही नहीं परेशान फगन ने अपना परिवार सिरजगांव में छोड़ खुद अकेला अपनी ससुराल रेणुका खापा में 15 दिनों से खेतों में काम कर रहा है जहां उसे सांप के दर्शन तो हुए परन्तु अभी काटा नहीं। फिलहाल देखना होगा कि फगन सांपों के इस कहर से कब तक महफूज रहता है।


Content Writer

meena

Related News