सरपंच की शिकायत पर लोकायुक्त का छापा, करोड़ों का आसामी निकला पंचायत सचिव

11/28/2020 12:37:20 PM

ग्वालियर: मध्यप्रदेश के ग्वालियर जिले में लोकायुक्त की टीम ने एक बड़ी कार्रवाई की है। जहां शिकायत के बाद पंचायत सचिव पर के घर छापेमारी की गई। जहां कार्रवाई में पंचायत सचिव करोड़ों की आसामी निकला। लोकायुक्त पुलिस के छापेमार करवाई में पंचायत सचिव के घर से अधिकारियों को मकान, प्लॉट के कागजात के साथ ही सोने चांदी के आभूषण भी मिले हैं। पंचायत सचिव के भाई नृपेंद्र के नाम से एक अल्टो कार के दस्तावेज, 7 लाख से अधिक की कीमत की 180 ग्राम सोना, 390 ग्राम चांदी और नगदी भी बरामद की गई है। लोकायुक्त ने पूरी संपत्ति का मूल्य 70 लाख रुपए लगाया है। जबकि बाजार मूल्य 1 करोड़ से अधिक रुपए आंकी गई है। लोकायुक्त ने पंचायत सचिव पर भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया था।

PunjabKesari

जानकारी के अनुसार, ग्वालियर के भीतरवार जनपद पंचायत में सरपंच कमल सिंह जाटव ने पंचायत सचिव शैलेंद्र सिंह जाट के खिलाफ लोकायुक्त कार्यालय में शिकायत दर्ज की गई थी। जिसके आधार पर शुक्रवार को उनके खिलाफ सर्च वारंट जारी किया गया। इसके बाद सुबह 5:00 बजे लोकायुक्त डीएसपी प्रदुमन पाराशर, निरीक्षण कविंद्र चौहान एवं उप निरीक्षक सुरेश कुशवाहा के साथ दो अलग टीम लेकर मस्तूरा सचिव शैलेंद्र जाट के घर पहुंचे। जहां छापेमारी के दौरान पंचायत सचिव करोड़ों का मालिक निकला।

PunjabKesari

बता दें कि पंचायत सचिव ने साल 2008 में नौकरी शुरू की थी और उसका मासिक वेतन 12000 रुपए था। इस हिसाब से इस 11 साल की नौकरी में सचिव को 13 लाख रुपए की आय हुई है। लेकिन करोड़ों रुपए होना उसके भ्रष्टाचार की पोल खोलता है। लोकायुक्त ने पंचायत सचिव पर भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया था।

 


meena

Related News