हिंदुत्व की पॉलिटिक्स नरोत्तम मिश्रा को शिवराज सिंह से बड़ा नेता बना देगी !

11/26/2020 6:10:40 PM

भोपाल(हेमंत चतुर्वेदी): अभी से ही नहीं, बल्कि दशकों से मध्यप्रदेश को राजनीति की प्रयोगशाला माना जाता रहा है। लेकिन कभी भी यहां पर हिंदू मुस्लिम की राजनीति देखने को नहीं मिली, इस मामले में सिर्फ दिग्विजय सिंह के मुस्लिम तुष्टीकरण को एक अपवाद के तौर पर देखा जा सकता है, लेकिन प्रदेश के भीतर उन्होंने कभी भी खुलकर हिंदू मुस्लिम की राजनीति नहीं की। लेकिन इस वक्त मध्यप्रदेश की सियासत के धुरंधरों में से एक और गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा हिंदू मुस्लिम की सियासत के पिच पर खुलकर खेल रहे हैं। नरोत्तम मिश्रा की इस पॉलिटिक्स के कई मायने भी निकाले जाने लगे हैं, जिनमें प्रमुख तो यह है, कि आखिर इसके सहारे वह चाहते क्या हैं ?

PunjabKesari

वैसे नरोत्तम मिश्रा की यह सक्रियता इस वक्त प्रदेश के हर खबरनवीस की जुबान पर है। और इसके प्रमुख मकसद को अगर किसी बात के साथ जोड़ा जा रहा है, तो वह सीएम शिवराज सिंह चौहान को चुनौती देना। दरअसल इस बात से कोई इंकार नहीं कर सकता, अपने डेढ़ दशक के शासन में शिवराज कई मोर्चों पर बेहद सफल रहे हैं, लेकिन संघ और पार्टी लाइन के मुताबिक वह हिंदुत्व के क्षेत्र में कुछ विशेष हासिल नहीं कर सके। खबरें तो यहां तक आई, कि शिवराज के इस लचीलेपन के कारण पार्टी हाईकमान कभी भी उनसे संतुष्ट नहीं रहा, लेकिन चूंकी शिवराज ने प्रदेश में अपना कद काफी बड़ा कर लिया था इसलिए भाजपा कभी उनके विकल्प पर गौर नहीं कर सकी। 

PunjabKesari

अब जरा नरोत्तम मिश्रा की कवायदों पर गौर कीजिए, गृहमंत्री का पद संभालने के बाद वह किस तरह हिंदुत्व की लाइन को आगे बढ़ाने में जुटे हुए हैं, सीएम शिवराज से पहले लव जिहाद पर कानून की घोषणा करना। विवादित वेब सीरिज पर तत्काल एक्शन लेकर राष्ट्रीय स्तर पर सुर्खियां बटोरना, इसके अलावा औवेसी, गुलाम नवी आजाद और अन्य मुस्लिम वर्ग से जुड़े नेताओं और उनके मुद्दों पर खुलकर बोलना। ये तमाम मसले ऐसे हैं, जिन्होंने महीने भर के भीतर ही नरोत्तम मिश्रा को मध्यप्रदेश में हिंदुत्व की राजनीति का चेहरा बना दिया है। 

PunjabKesari

कुल मिलाकर इस वक्त नरोत्तम मिश्रा हिंदू मुस्लिम की सियासत की पिच खुलकर चौके छक्के लगा रहे हैं, हाल ही में प्रदेश सरकार के गृहमंत्रालय ने कई मुस्लिम गैंगस्टर्स पर शिकंजा कसके अपने इरादों को जाहिर करने का काम किया है। जिसे देखते हुए यह कहा जा सकता है, कि नरोत्तम मिश्रा इस मोर्चे पर सीएम शिवराज सिंह से बड़ी लाइन खींचने में तुल गए हैं। जिसका उन्हें क्या फायदा मिलता है, यह देखना दिलचस्प होगा।


meena

Related News