आदिवासियों का वोट साधने जबलपुर पहुंचे केंद्रीय मंत्री शाह, कांग्रेस-BJP के दिग्गज करेंगे शक्ति प्रदर्शन

9/18/2021 12:32:49 PM

जबलपुर(विवेक तिवारी): केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आज मध्य प्रदेश दौरे पर हैं। वे गोंडवाना साम्राज्य के शासक अमर शहीद राजा शंकर शाह एवं कुंवर रघुनाथ शाह के बलिदान दिवस के कार्यक्रम में शामिल होने आए हैं। इस एक दिवसीय दौरे के दौरान वह जबलपुर में जरूरतमंद परिवारों की महिलाओं को निःशुल्क रसोई गैस कनेक्शन उपलब्ध कराने की उज्ज्वला - 2.0 योजना का शुभारम्भ भी करेंगे। वे गैरिसन ग्राउंड में जनसभा को संबोधित करेंगे।

PunjabKesari

ये है कार्यक्रम
केंद्रीय मंत्री शाह जबलपुर में जनजातीय नायक अमर शहीद राजा शंकरशाह और कुंवर रघुनाथ शाह की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करेंगे। पुष्पांजलि अर्पित करने के बाद दोपहर 12.10 बजे आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत राजा शंकरशाह और कुंवर रघुनाथ शाह के बलिदान दिवस पर जनजातीय नायकों के पुण्य स्मरण के लिए गैरीसन ग्राउंड में आयोजित कार्यक्रम में शामिल होंगे। इसके बाद गृह मंत्री दोपहर 2.45 बजे एक कार्यक्रम में निःशुल्क रसोई गैस कनेक्शन प्रदान करने के लिये उज्ज्वला - 2.0 योजना का शुभारंभ करेंगे तथा शाम 4.30 बजे शहीद स्मारक प्रांगण गोलबाजार में कार्यक्रम में शामिल होंगे। वहीं शाम 6.10 बजे शास्त्री ब्रिज के समीप स्थित नरसिंह मंदिर और शाम 6.35 बजे तिलवाराघाट स्थित दयोदय तीर्थ जायेंगे। इसके बाद शाम 7.30 बजे डुमना विमानतल से बीएसएफ के विमान द्वारा नई दिल्ली प्रस्थान करेंगे।

PunjabKesari

आदिवासियों पर राजनीतिक पार्टियों का विशेष फोकस
उनके मध्य प्रदेश दौरे को लेकर मध्य प्रदेश की राजनीति भी गरमा गई है। जबलपुर में कई कांग्रेसी व भाजपा के दिग्गज नेता शामिल होंगे। वहीं कयास लगाए जा रहे हैं कि 2023 के चुनावों के मद्देनजर आदिवासियों पर विशेष फोकस किया जा रहा है। क्योंकि 18 सितंबर को गोंड राजा शंकर शाह और उनके बेटे कुंवर रघुनाथ शाह का बलिदान दिवस है। उन्हें श्रद्धांजलि देने केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह आ रहे हैं। कांग्रेस की ओर से पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह मोर्चा संभालेंगे। अमित शाह के दौरे के लिए जोर-शोर से तैयारियां चल रही हैं, लेकिन स्थानीय आदिवासी नेताओं को इससे दूर रखा गया है।

PunjabKesari

नहीं होंगे नर्मदा महाआरती में शामिल...
वहीं पहले चर्चा थी कि वे नर्मदा महाआरती में शामिल होंगे लेकिन केंद्रीय संस्कृति मंत्रालय से इसकी अनुमति नहीं मिली है। इसलिए वे महाआरती में शामिल नहीं होंगे। यानी उनके पूर्व निर्धारित कार्यक्रमों में किसी भी प्रकार का फेरबदल नहीं होगा। गृह मंत्री अमित शाह भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष रहते हुए जबलपुर आ चुके हैं। उस दौरान उनकी सभा वेटरनरी कालेज ग्राउंउ में हुई थी। श्री शाह ने तब ग्वारीघाट पहुंचकर नर्मदा दर्शन के साथ महाआरती की थी।

PunjabKesari

बूथ अध्यक्षों को भी संबोधित करेंगे
प्रशासनिक कार्यक्रमों के अलावा केंद्रीय मंत्री शहीद स्मारक में आयोजित होने वाले पार्टी स्तर के कार्यक्रम में भी शामिल होंगे। सांसद राकेश सिंह ने बताया कि इसके लिए गृह मंत्रालय की लिखित अनुमति पहुंच चुकी है। शनिवार को ही संसदीय क्षेत्र के बूथ अध्यक्षों का सम्मलेन भी है जिसे गृहमंत्री संबोधित करेंगे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Recommended News

static