प्रशासन को जगाने के लिए अस्पताल से वीडियो जारी, बुलाने पर नर्स नहीं आती, मरीज तोड़ रहे जमीन पर दम

4/5/2021 3:31:30 PM

छिंदवाड़ा: मध्य प्रदेश में कोरोना संक्रमण तेजी से फैल रहा है। हालात ये है कि अस्पतालों में आईसीयू में बैड फुल हो गए हैं और हालात बिगड़ रहे हैं। कुछ ऐसी ही तस्वीरे छिंदवाड़ा जिले से सामने आई है जहां जिला अस्पताल में व्यवस्थाएं चरमराती जा रही हैं। कमिश्नर के दौरे के बावजूद भी यहां की स्थिति में कोई सुधार नहीं आया है। अस्पताल में भर्ती कोरोना के मरीज अब वहां की अव्यवस्थाओं से घबराकर सोशल मीडिया में लोगों से गुहार लगाने लगे हैं। अस्पताल में भर्ती एक मरीज ने वीडियो जारी करके बताया है कि यहां पर नर्स और डॉक्टर देखने तक नहीं आते हैं और बार-बार बुलाने के बावजूद भी कोई सुनने वाला नहीं है, स्टाफ रूम में ताला डाला हुआ है।

PunjabKesari
वही पांचवी मंजिल पर भर्ती एक मरीज द्वारा फोटो भेजकर बताया गया है कि कल शाम से वार्ड में मृतकों की बॉडी पड़ी हुई है जिसको हटाया नहीं जा रहा है जिसके कारण पूरे वार्ड में मरीजों का रहना मुश्किल हो रहा है और भय का वातावरण बना हुआ है। प्रशासन की जानकारी में यह बात आने के बावजूद भी अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है। पूरे अस्पताल के कोरोना वार्ड में अफरा-तफरी का माहौल है। वहां पर आवाजाही पर प्रतिबंध होने के कारण मरीजों के रिश्तेदार भी उनकी कोई मदद नहीं कर पा रहे हैं और ना ही मीडिया अंदर तक पहुंच पा रहा है ।

PunjabKesari

छिंदवाड़ा में प्रतिदिन बड़ी संख्या में कोरोना के मरीज बढ़ रहे हैं। सरकारी आंकड़ों में कल कोरोना पॉजिटिव की संख्या 67 बताई जा रही है। परतला मोक्ष धाम में एक साथ तीन-तीन बॉडी जलाई जा रही है। हालात यह है कि ना तो श्मशान में जगह बची है और ना ही अस्पताल में निजी अस्पताल भी पूरी तरह से भरे गए हैं। वहीं प्रशासन द्वारा प्रभावितों एवं मृतकों के सही आंकड़ें ना दिए जाने के कारण आम जनता में रोष देखा जा रहा है । हालांकि प्रशासन द्वारा आज जिले में लॉकडाउन खोल दिया गया है परंतु अनेक गांव में अभी भी स्वेच्छा से लॉकडाउन लगा हुआ है। महाराष्ट्र की सीमा से लगे हुए गांव में ग्राम वासियों ने चोरी छुपे आने जाने वालों को प्रतिबंधित कर दिया है और अब वे महाराष्ट्र आने वाले लोगों को गांव से नहीं गुजरने दे रहे ।


Content Writer

meena

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static