माइक्रोबायोलॉजी जांच के लिए जाना पड़ता था इंदौर, अब खंडवा के मेडिकल कॉलेज अस्पताल में ही मिलेगी यह सुविधा

9/27/2022 6:41:47 PM

खंडवा(निशात सिद्दिकी): मेडिकल कॉलेज के आरंभ होने के चार साल बाद आखिरकार मेडिकल कॉलेज सह जिला अस्पताल में माइक्रोबायोलॉजी लैब आरंभ हो गई। सोमवार को नए नैदानिक केंद्र में डीन डॉ. अनंत पंवार, माइक्रोबायोलॉजी विभाग के अधिकारियों ने लैब का लोकार्पण किया। अब यहां बैक्टीरियोलॉजी के विभिन्न कल्चर की जांच हो सकेगी, जिससे गंभीर बीमारियों की पहचान कर बेहतर इलाज मरीजों को दिया जा सकेगा।

PunjabKesari

अब तक के साथ समय भी खराब होता था। सोमवार को माइक्रोबायोलॉजी लैब का शुभारंभ किया गया। हालांकि पहले दिन एक भी जांच नहीं हुई। माइक्रोबायोलॉजी  विभाग एचओडी डॉ. अमित रंगारी ने बताया कि यहां अब एनारोबिक सर्विस लैब, माइकोलॉजी सर्विस लैब, ट्यूबरकुलोसिस सर्विस लैब और पैरासिटोलॉजी सर्विस लैब खोलने सहित बैक्टीरियोलॉजी की सुविधा भी उपलब्ध हो गई है। सेप्टिसीमिया के लिए ब्लड कल्चर, पस कल्चर, यूटीआई के लिए यूरिन कल्चर, थ्रोट स्वैब कल्चर, सेरेब्रोस्पाइनल फ्लुइड कल्चर, सिनोवियल फ्लुइड कल्चर, ब्रोंकोविओलर लैवेज फ्लूईड कल्चर आदि जांच जो खंडवा में भी नहीं होती थी, यहां उपलब्ध होगी। साथ ही विभिन्न ओटी पोस्ट फ्यूमिगेशन कल्चर और विभिन्न वार्डो (आईसीयू, एनआईसीयू, पीआईसीयू) पोस्ट फ्यूमिगेशन स्वैब कल्चर भी यहां होगा। लैब के शुभारंभ पर डॉ. रमेश अग्रवाल, डॉ. प्रमिला वर्मा, डॉ. राकेशसिंह हजारी, डॉ. सीमा सुते सहित मेडिकल कॉलेज के अन्य डॉक्टर्स मौजूद थे।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Related News

Recommended News