बाल काटने वाले का बेटा बना गोल्ड मेडलिस्ट, बुलंद हौसलों से किया MP का नाम रोशन

1/11/2020 6:26:55 PM

रायसेन(नदीम अली): कहते हैं कि हौंसले बुलंद हो तो कुछ भी मुश्किल नहीं होता और बुलंद हौंसलों के आगे तो मुश्किलें भी रास्ता छोड़ देती हैं। कुछ ऐसा ही करके दिखाया है रायसेन जिले के सांची में हेयर कटिंग सैलून की दुकान पर काम करने वाले पोप सिंह सेन के बेटे निखिल सेन ने। 65 बी राष्ट्रीय साले क्रीड़ा थाई बॉक्सिंग प्रतियोगिता छत्तीसगढ़ में मध्य प्रदेश को स्वर्ण पदक दिलाया।

PunjabKesari

छत्तीसगढ़ में 5 जनवरी से 9 जनवरी तक आयोजित हुई 65वें राष्ट्रीय साले क्रीडा थाई बॉक्सिंग प्रतियोगिता 40 बजनी ग्राम में सांची के गरीब परिवार के निखिल सेन ने मध्यप्रदेश के लिए स्वर्ण पदक जीता। प्रतियोगिता में 15 स्टेट्स के प्रतिभागियों ने भाग लिया था निखिल की पहली फाइट विद्या भारती सेकंड फाइट आसाम से हुई और फाइनल फाइट दिल्ली से हुई थी।

PunjabKesari

गरीब परिवार से है निखिल
निखिल के पापा हेयर कटिंग सैलून की दुकान पर काम करते हैं। निखिल बहुत ही गरीब परिवार से हैं इसके बावजूद भी उन्होंने जिले का ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश का नाम रोशन किया है कम संसाधनों के बावजूद भी निखिल ने यह उपलब्धि हासिल की। वह सुबह 5 बजे उठकर अपनी प्रैक्टिस रोजाना करते हैं।

PunjabKesari

शहर में जश्न का माहौल
इस जीत के बाद जब निखिल सांची पहुंचे तो नगर के लोगों ने उनका ढोल नगाड़े बजाकर व फूल मालाओं से स्वागत किया। उनकी इस उपलब्धि पर उनके माता-पिता और सांची नगर के लोग गर्व महसूस कर रहे हैं। वही निखिल का कहना है कि उनके बड़े भाई और उनके टीचर ने उनका काफी सहयोग किया है जिससे उन्होंने आज यह मुकाम हासिल किया है और आगे भी वह अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खेलना चाहते हैं। वे 11वीं के छात्र हैं। हमारे स्कूल में खेलने के कम संसाधन हैं और जो वर्तमान में है वह भी टूट फूट गए हैं व्यवस्थाएं कम है। स्कूल में स्पोर्टस की सामग्री उपलब्ध होना चाहिए। जिससे और बच्चे भी आगे बढ़ सकें।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Edited By

meena

Recommended News

static