सफाई कर्मी ने ऑपरेशन थिएटर में लगाई फांसी, अस्पताल में मचा हड़कंप

8/29/2021 3:45:52 PM

छतरपुर(राजेश चौरसिया): छतरपुर में जिला अस्पताल में स्वीपर (सफाई कर्मी) द्वारा फांसी लगाने का मामला सामने आया है जहां जिला अस्पताल की तीसरी मंजिल पर स्थित OT कक्ष में देर रायत तकरीबन 9 बजे  फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृत कर्मचारी के बड़े भाई रविकुमार ने बताया कि मृतक धर्मदास की पत्नी सहित दो बच्चे हैं। बेटी रागिनी 13 साल और बेटा शिवम 15 साल का है। भाई आर्थिक रूप से काफी परेशान था और बीमार भी रहता था।

PunjabKesari

बता दें कि मृतक 45 वर्षीय धर्मदास पिता काशीराम मेहरोलिया (बाल्मीकि) निवासी बेनीगंज मोहल्ला छतरपुर जिले अस्पताल में स्थाई कर्मचारी नहीं था पर अस्पताल जाकर सफाई करता था। शनिवार को भी उसने दोपहर से लेकर रात 8:30 तक काम किया। जहां ड्यूटी चेंज करते समय तीसरी मंजिल पर बने ऑपरेशन थियेटर के खाली कक्ष में पंखे से फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। जब देर रात 9 बजे ड्यूटी पर पहुंचे रेडक्रॉस के सफाई कर्मचारी मनसुख ने कक्ष खोला तब उसे धर्मदास का शव फांसी के फंदे पर लटकता मिला।

PunjabKesari

स्टाफ नर्स आराधना चतुर्वेदी की मानें तो धर्मदास अस्पताल का स्थाई कर्मचारी नहीं था। वह ठेकेदार द्वारा अनुबंधित था अस्पताल में आकर मरीजों की साफ़-सफाई और मदद वग़ैरह भी करता रहता था, जिसके बदले में लोग उसे पैसे दे दिया करते थे।

PunjabKesari

वहीं मामले में पुलिस ने जांच की तो पाया कि उसके कपड़ों में कुछ दवाईयां मिलीं जहां पता चला कि वह अस्वस्थ रहता था इसलिये दवाई हमेशा साथ लिए रहता था। मामले में जांच की जा रही है बाकी PM रिपोर्ट और जांच के बाद ही स्पष्ट हो पायेगा।

PunjabKesari

सूत्रों की मानें तो सूचना मिलते ही डीएसपी शशांक जैन, सिटी कोतवाली थाना प्रभारी अरविंद सिंह दांगी, एसआई मनोज गोयल मौके पर पहुंचे, मृतक की जेब में मिला सुसाइड नोट भी मिला है जिसे अब तक स्पष्ट नहीं किया गया है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Related News

Recommended News