जिस मेडिकल कॉलेज में वैक्सीनेशन के बाद मजदूर की मौत हुई, उसके डीन ने दिया इस्तीफा

1/9/2021 6:25:33 PM

भोपाल(इजहार हसन खान): कोरोना वैक्सीन ट्रायल में वैक्सीन डोज से आदिवासी मजदूर की मौत होने के बाद पीपल्स मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ अनिल दीक्षित ने इस्तीफा दे दिया है। डीन ने इस्तीफे में लिखा कि कुछ व्यक्तिगत कारणों के कारण मैं ड्यूटी नहीं कर सकता इसलिए मैं इस्तीफा दे रहा हूं। वैक्सीनेशन के बाद मजदूर की मौत से सरकार चारों तरफ से घिर गई है। राज्यसभा सासंद दिग्विजय सिंह भी पीड़ित परिवार से मिलने पहुंचे थे।

PunjabKesari

भोपाल के एक निजी अस्पताल में 12 दिसंबर को वैक्सीन ट्रायल में शामिल हुए दीपक मरावी  की 8 दिन बाद मौत हो गई। दीपक मरावी को भोपाल के एक निजी अस्पताल में ट्रायल के दौरान वैक्सीन लगाई गई थी। मृतक दीपक मरावी की पत्नी का कहना है कि वैक्सीन लगाने के बाद से ही उनके पति को कई दिक्कतें हो रही थी।

PunjabKesari

हाथ पैर में तेज दर्द के साथ कई बार उल्टी हुई और मुंह से झाग भी निकला। मरावी की घर की स्थिति बेहद नाजुक है। उसके तीन बेटे हैं पत्नी भी मजदूरी करके परिवार का गुजर बसर करती है। परिवार के सबसे छोटे बेटे के दिल में छेद है।

PunjabKesari

दीपक मरावी की मौत 21 दिसंबर को हुई थी, हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में यह कहा गया है कि मौत का कारण जहर हो सकता है लेकिन मृतक के परिवार का कहना है कि दीपक मरावी ने जहर नहीं खाया और उनकी मौत वैक्सीन के कारण ही हुई है।

after the vaccinations the government was surrounded by the death of the worker

परिवार का आरोप है कि वैक्सीन लगने के बाद अस्पताल प्रबंधन की ओर से कोई फॉलोअप नहीं लिया गया हालांकि स्वास्थ्य मंत्री प्राभुराम चौधरी ने इन आरोपों को सिरे से नकारते हुए कहा कि युवक की मौत किसी जहरीले पदार्थ से हुई है। पोस्टमार्टम की रिपोर्ट में  भी यह बात कही गई है।


meena

Related News