संघ प्रमुख का भोपाल प्रवास बना राजनीति का केंद्र, मिशन 27 को लेकर सरगर्मियां तेज

8/8/2020 12:08:58 PM

भोपाल(प्रतुल पराशर): राम मंदिर निर्माण के शुभ भूमि पूजन कार्यक्रम के बाद संघ प्रमुख डॉ. मोहन भागवत के राजधानी प्रवास से मध्य प्रदेश की राजनीतिक गर्मी बढ़ गई है। सूत्रों के मुताबिक पिछली बार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की विचार मंथन बैठक कोरोना संक्रमण के कारण अधूरी रह गई थी। संघ के सभी आयामों पर जो चर्चा होनी थी, नहीं हो पाई। ऐसे में इस बार संघ पदाधिकारियों के प्रवास का बड़ा टाइट शेड्यूल तय किया गया है। राम मंदिर भूमि पूजन के बाद राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अब जोरदार तरीके से परम पवित्र भगवा लक्ष्य को साधने के लिए पूरे उत्साह में है। जानकारी है की संघ के परम पूज्य डॉ.भागवत इसी भगवाधारी विचारधारा के तहत भगवाधारी नेताओं से वन टू वन चर्चा करेंगे। इसी कड़ी में भोपाल सांसद साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर और फायर ब्रिगेड वरिष्ठ नेता उमा भारती से संघ प्रमुख की चर्चा महत्वपूर्ण मानी जा रही है। राम मंदिर भूमि पूजन में उमा भारती और जयभान सिंह पवैया की मौजूदगी और इनकी मध्यप्रदेश में सक्रियता बढ़ने से भाजपा की राजनीति में जोरदार हलचल है।
PunjabKesari

सूत्रों की माने तो संगठन स्तर पर पूर्व में ही सभी 27 उपचुनाव सीटों पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, भाजपा प्रदेश अध्यक्ष बीडी शर्मा, गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा के साथ भाजपा के नवनियुक्त सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया से भी राय मशवरा कर उनकी बात संघ प्रमुख तक पहुंचाई जा चुकी है। अब सवाल यह भी है कि 5 अगस्त राम मंदिर के निर्माण के निमित्त सफल कार्यक्रम के बाद संघ प्रमुख का भोपाल प्रवास और फिर नागपुर के लिए रवानगी सिर्फ एक संयोग मात्र रहेगा,या फिर एक सुनियोजित कार्यक्रम स्थापना के मद्देनजर कार्यभार सौंपने और राजनीतिक गतिविधि को तेज करने पर मुहर लगाने का काम करेगा। जो भी हो जैसा भी हो परंतु संघ नेताओं का साफ कहना है कि कोरोना काल में प्रत्यक्ष संपर्क तो संभव नहीं है, इसलिए संगठन की सक्रियता को बरकरार रखने के लिए सारे कार्यक्रम ऑनलाइन संचालित किए जा रहे हैं। हर वर्ग को जरूरत के हिसाब से मदद पहुंचाई जा रही है और विपरीत परिस्थिति में समाज को जोड़े रखने में अग्रणी भूमिका भी संघ ने निभाई है।

PunjabKesari

इसी कड़ी में डॉक्टर भागवत के प्रमुख दिशानिर्देशों में से गौ रक्षा और गंगा सफाई के साथ मध्य भारत और मालवा प्रांत की परम पवित्र सेवा कार्यों को मध्यप्रदेश में बढ़ाना मुख्य कार्य रहेगा। गौरतलब है कि डॉक्टर भागवत अपने तीन दिवसीय भोपाल प्रवास में रविवार को मध्य भारत और मालवा प्रांत की बैठक कर सोमवार 10 अगस्त को नागपुर के लिए रवाना होंगे। इस बैठक में प्रांत प्रचारक,प्रांत संघचालक प्रांत कार्यवाह और सह कार्यवाह शामिल रहेंगे साथ ही कोराना गाइडलाइन और सुरक्षित शारीरिक दूरी के साथ करीब 10 लोग ही बैठक में शामिल हो सकेंगे।


Edited By

meena

Related News