चोरी के शक में युवक की बेरहमी से पीटा, मां बोलीं- धर्म जानने के लिए बेटे का अंडरवियर उतार दिया, वो चिल्लाता रहा- मैं हिंदू हूं...

8/7/2022 7:03:09 PM

खरगोन: खरगोन में चोरी के शक में पकड़े गए युवक का धर्म जानने के लिए अंडरवियर उतारने का मामला सामने आया है। दरअसल, अनाज की बोरियों की चोरी के शक में 4 लोगों ने मिलकर एक युवक की बुरी तरह पिटाई कर दी। मां का आरोप है कि आरोपियों ने मुस्लिम समझकर पीटा। उसका धर्म जानने के लिए उसका अंडरवियर उतरवा दिया और फिर उसे अर्धनग्न कर लाठी-डंडों से बुरी तरह पीटा। जबकि बेटा चिल्लाता रहा कि वह हिंदू है हिंदू है...वे उसे जान से मारने की धमकी दे रहे थे। घटना का वीडियो भी वायरल हुआ है।

PunjabKesari

घटना 2 अगस्त की बताई जा रही है। जहां शुक्रवार देर शाम औद्योगिक क्षेत्र निमरानी की नर्मदा फूड कंपनी में गेहूं की बोरियां चुराने के शक में एक युवक को 4 युवकों ने पीट डाला। इतना ही नहीं युवक का धर्म जानने के लिए उन्होंने उसके कपड़े और अंडरवियर तक उतरवा दिया। घटना का वीडियो वायरल होने के बाद पुलिस ने 4 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया है। लापरवाही के चलते चौकी प्रभारी को निलंबित किया है। SP धर्मवीर सिंह यादव के अनुसार, बेरहमी से पिटाई का यह मामला 2 अगस्त का है, लेकिन इसका वीडियो शुक्रवार देर शाम सामने आया। वीडियो सामने आते ही पुलिस ने 4 लोगों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। हालांकि उन्होंने धर्म के आधार पर पिटाई की बात से इनकार किया है।

PunjabKesari

वहीं युवक की मां ने भागवती रोकड़े का कहना है कि उनका बेटा बैंड बजाने का काम करता है। 2 अगस्त को वह ढोल बजाने के लिए खलघाट गया था। रात में घर वापस लौटते वक्त जल्दी आने के लिए उसने शॉर्टकट ले लिया। वहां पहले से ही मारपीट हो रही थी। तब तक कुछ लोगों ने मेरे बेटे को घेर लिया। बचने के चक्कर में वह नाले में गिर गया। आरोपी चिल्ला रहे थे कि चोर आया-चोर आया। उन्होंने गालियां बकते हुए बेटे को नाले से बाहर निकाला और कंपनी के 4 कर्मचारियों ने गेहूं की बोरियों की चोरी के शक में लाठी-डंडों से जमकर पीटा।

PunjabKesari

वहीं SP सिंह का कहना है कि मामले में हिंदू मुस्लिम जैसा कोई फैक्टर नहीं है। वहीं आरोपी रितेश शर्मा, रामविलास चौधरी, बबलू दौड़वे और चेतन पाटिल सहित अन्य अज्ञात लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। चौकी प्रभारी राजेंद्र बघेल ने मामले में लापरवाही बरती उन्होंने मामले की जानकारी नहीं दी इसलिए उन्हें निलंबित कर दिया गया है। साथ ही महेश्वर SDOP मनोहर सिंह गवली को चौकी प्रभारी के खिलाफ जांच के आदेश दिए गए हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Related News

Recommended News