राम मंदिर आंदोलन का प्रमुख चेहरा उमा भारती जाएगी अयोध्या, भूमिपूजन में होगी शामिल

8/1/2020 5:13:17 PM

भोपाल(इजहार हसन खान): 5 अगस्त को अयोध्या में होने वाले राम मंदिर भूमिपूजन की तैयारियां जोरों पर हैं। इस ऐतिहासिक घड़ी में पहुंचने वाले अतिथियों की लिस्ट को भी अंतिम रूप दिया जा चुका है। जिसके चलते मंदिर आंदोलन का प्रमुख चेहरा रहीं बीजेपी की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष उमा भारती को न्यौता भेजा गया। इस बात की पुष्टि खुद उमा भारती ने ट्वीट के जरिए की है।उमा भारती ने ट्वीट में लिखा "मैं एक समाचार आप सबके साथ शेयर कर रही हूं जिसे जानने के लिए आप सब उत्सुक थे। मुझे अभी अयोध्या जी के राम जन्मभूमि न्यास के वरिष्ठ पदाधिकारी ने निर्देश दिया है कि मैं 4 अगस्त की शाम तक अयोध्या जी पहुंच जाऊं एवं उनके निर्देश के अनुसार मुझे 6 अगस्त तक अयोध्या जी में ही रहना होगा। वहीं एक अन्य ट्वीट में लिखा मैं अभी 30 जून को भी अयोध्या जी गई थी एवं रामलला के दर्शन किए थे, आरती में भाग लिया था। अब मुझे फिर रामलला के दर्शन का मौका मिलेगा।
 

PunjabKesariMadhya Pradesh Hindi News, Punjab Kesari, BJP, Congress, Uma Bharti, Ramjanambhoomi, ram mandir

आपको बता दें कि बीजेपी की फायर ब्रांड नेता उमा भारती ने राम मंदिर अंदोलन में बढ़ चढ़ कर योगदान दिया था। उन्होंने बताया कि जब 28 साल की थी, तो जून 1990 में तब विश्व हिंदू परिषद (विहिप) के मार्गदर्शक मंडल की सदस्य बनी थीं। इसके बाद उनका नाम राम जन्मभूमि के प्रमुख आंदोलनकारियों में आ गया। इस बात से हर कोई बाखिफ है कि उमा भारती अयोध्या में राम मंदिर आंदोलन में महिला ब्रिगेड को प्रेरित करने वाली स्वर्गीय राजमाता विजयाराजे सिंधिया के साथ ही पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती तथा साध्वी ऋतंभरा ने बड़ा किरदार अदा किया। इनके खिलाफ विवादित ढांचा विध्वंस मामले में आपराधिक साजिश के आरोप तय थे। उस समय युवा भाजपा नेता तथा सांसद उमा भारती की पहचान मंदिर आंदोलन के दौरान महिला चेहरे के तौर पर उभरी। भाजपा की राष्ट्रीय कार्यपरिषद में मंदिर के लिए प्रस्ताव लाने के लिए उमा भारती अपने भाषणों को लेकर चर्चा में आईं।

PunjabKesari

देश में छह दिसंबर 1992 की घटना के बाद उमा भारती भाषणों की चर्चा ने काफी जोर पकड़ा था। राम मंदिर आंदोलन को लेकर वह कई बार जेल गई। उमा भारती के मुताबिक उन्हें विजयाराजे सिंधिया के साथ चित्रकूट से गिरफ्तार कर बांदा ले जाया गया, जहां 50 हजार कारसेवकों के साथ रखा गया। एक समय था जब उमा भारती ने अयोध्या में राम मंदिर निर्माण को लेकर कहा था कि, ‘राम मंदिर मेरी आस्था का विषय है। मेरे विश्वास का विषय है। मुझे इस पर गर्व है… अगर जेल भी जाना पड़े तो जाऊंगी, फांसी पर लटकना पड़े तो लटक जाऊंगी।’ लेकिन अब पांच अगस्त को अयोध्या में भव्य राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन तथा शिलान्यास होने जा रहा है जो कि उमा भारती के लिए बेहद सुखद पल है। 
 


Edited By

meena

Related News