MP में गजब का भ्रष्टाचार, मृतकों को किया गया मजदूरी का भुगतान, करोडों रुपए का हुआ गबन

9/21/2020 6:25:22 PM

बड़वानी (संदीप कुशवाहा): मध्यप्रदेश में भ्रष्टाचार किस कदर फैला हुआ है इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि यहां मरे हुए व्यक्तियों से भी मजदूरी करवाई जाती है और उन्हें मजदूरी का भुगतान भी किया जाता है, ऐसा ही कुछ हुआ है बड़वानी जिले के सेंधवा में, जहां वरला तहसील के बाखरली में कुछ लोग कलेक्टर शिवराज सिंह के पास एक शिकायत लेकर पहुंचे और आरोप लगाते हुए कहा कि हमारी पंचायत के सरपंच और सचिव ने शासकीय कार्यों में कई अनियमितताएं की है और करोड़ों रुपए गबन किए हैं।

PunjabKesari, Madhya Pradesh, Barwani, Sendhwa, corruption, scam in MGNREGA, salary to the dead, complaint to collector, crime, Punjab Kesari

मामले की जमीनी हकीकत जानने के लिए पंजाब केसरी की टीम ग्राम पंचायत बाखरली पहुंची और ग्रामीणों द्वारा लगाए गए आरोपों का मुआयना किया। ग्रामीणों द्वारा पंचायत में किए गए कार्यों का मास्टर दिखाया गया, जिसमें साफ देखा जा सकता कि ग्राम बाखरली के 7 कपिलधारा के कुएं जो पूरी तरह से अधूरे हैं और वहां सिर्फ गड्ढा खोदा गया है। लेकिन कागजों पर कार्य पूर्ण बता कर प्रत्येक कुएं की स्वीकृत रकम 195000-195000 निकाल ली गई है। जबकि हितग्राहियों को मात्र 35000 से ₹40000 दिए गए हैं। वहीं ग्राम की सड़क सुधीर सुंदर मार्ग जो कि 14 लाख रुपए की है, जिसे मास्टर में पूर्ण कार्य बताया गया है, परंतु ग्रामीणों ने जब वह सड़क हमें दिखाई तो वहां हमें कोई भी कार्य नहीं दिखा और सड़क पूर्णता कच्ची अधूरी थी। इतना ही नहीं, भ्रष्टाचार का आलम यह है कि गांव के कई लोग जिनकी मृत्यु 10 से 17 साल पहले हो चुकी है उन्हें भी 2017 तथा 2020 में मनरेगा के तहत काम दिया गया और भुगतान किया गया। जबकि मृतकों के परिवार वाले कहते हैं, कि हमें इस बारे में कोई सूचना नहीं है, कि कोई भुगतान हुआ है।

PunjabKesari, Madhya Pradesh, Barwani, Sendhwa, corruption, scam in MGNREGA, salary to the dead, complaint to collector, crime, Punjab Kesari

साथ ही ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि जो कागजात उन्हें पंचायत निर्माण कार्य के उपलब्ध हुए हैं। उसके अनुसार ग्राम में कई ऐसे कई शौचालय हैं जो स्वीकृत होने के पश्चात पूर्ण बन गए हैं, लेकिन हितग्राहियों को इस बात की भनक भी नहीं, कि उनके नाम से कोई शौचालय का निर्माण कार्य हुआ है। शौचालय में कई डुप्लिकेट और फर्जी आईडी लगाकर शौचालय निर्माण कार्य किया गया है हम चाहते हैं कि निर्माण कार्य में और पंचायत में किए गए भ्रष्टाचार की जांच हो और दोषियों पर कार्रवाई की जाए। वहीं जब बाखरली पंचायत के सरपंच से हमने इस संबंध में मिलना चाहा तो उन्होंने हमसे मिलने से इंकार कर दिया। इस संबंध में जब सेंधवा जनपद सीईओ से बात की गई तो उनका कहना है कि बाखरली पंचायत की शिकायत हमें प्राप्त हुई है जनपद स्तर पर एक टीम बनाकर वास्तु स्थिति जानने के लिए भौतिक सत्यापन किया गया है। जल्द ही जांच कमेटी की रिपोर्ट प्रस्तुत की जाएगी प्रथम दृष्टि तो यह लग रहा है, कि संभवत पंचायत में कई अनियमितताएं हुई है और जांच रिपोर्ट आने के पश्चात अनियमितता पाए जाने पर दोषियों पर संवैधानिक कार्रवाई की जाएगी।


Vikas kumar

Related News