छत्तीसगढ़ विधानसभा का 12वां दिन, भाजपा विधायक ने बिरनपुर हिंसा का मुद्दा उठाया, डिप्टी सीएम ने दिया ये जवाब

2/21/2024 4:51:44 PM

रायपुर(सत्येंद्र शर्मा): छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र का आज 12 वें दिन ध्यानाकर्षण के जरिए साजा विधानसभा से भाजपा विधायक ईश्वर साहू ने आज बिरनपुर हिंसा का मामला सदन में उठाया। उन्होंने कहा कि, घटना के वक्त CBI जांच की बात कही गई थी। क्या सीबीआई जांच कराई जाएगी? इसके बाद उप मुख्यमंत्री ने सदन में जांच की घोषणा की। डिप्टी CM विजय शर्मा ने कहा कि, गांव में भुनेश्वर साहू की हत्या हुई। न्याय की लड़ाई लड़ते-लड़ते उनके पिता आज सदन में अपनी बात कह रहे हैं, यह अद्भुत संयोग है।

डिप्टी CM विजय शर्मा आगे कहा कि, इस प्रकरण में सेक्शन 173 CRPC के तहत विवेचना जारी है। 40 लोगों के नाम दिए गए थे, उसमें 12 लोग के नाम FIR में थे। आगे भी कार्रवाई जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि, भागीरथी साहू की शिकायत पर अपराध पंजीबद्ध किया गया है।

PunjabKesari

सीएम बघेल ने कसा तंज

सीबीआई जांच पर पूर्व सीएम भूपेश बघेल ने तंज कसते हुए कहा कि गृहमंत्री विजय शर्मा को पहली ही कैबिनेट बैठक में फ़ैसला करना चाहते था और दूसरी बात ये है कि ख़ुद गृहमंत्री को अपने राज्य पुलिस पर ही भरोसा नहीं है और ख़ुद विधायक को ध्यानाकर्षण में याद दिलाना पड़ा है यह बहुत ही शर्मनाक है 

क्या है बिरनपुर हिंसा मामला

बेमेतरा के बिरनपुर में 8 अप्रैल 2023 को दो समुदायों के बीच हिंसक झड़प हुई थी। इस बवाल में एक युवक भुवनेश्वर साहू की जान चली गई थी। हिंसक झड़प के बाद विश्व हिंदू परिषद ने 10 अप्रैल को छत्तीसगढ़ बंद बुलाया। इस दौरान हंगामा और बढ़ गया। आगजनी की घटना हुई। 11 अप्रैल को 2 और शव बिरनपुर में मिले। इसके बाद बवाल और हंगामा और बढ़ गया। सरकार ने मामले में जांच का आश्वासन दिया। जब चुनाव हुए तो साजा से बीजेपी ने ईश्वर साहू को प्रत्याशी बनाकर मैदान में उतारा। ईश्वर साहू ने चुनाव में कद्दावर मंत्री रविंद्र चौबे को हरा दिया। विधानसभा पहुंचने के बाद अब ईश्वर साहू ने न्याय की मांग की। जिस पर गृह मंत्री विजय शर्मा ने सीबीआई जांच का ऐलान किया है। लेकिन कांग्रेस अब इसे सरकार की नाकामी मान रही है। 

PunjabKesari

माघी पुन्नी मेला का नाम बदलकर राजिम कुंभ कल्प रखने पर दो विधायकों में तीखी बहस

विधानसभा में राजिम माघी पुन्नी मेला का नाम बदलकर राजिम कुंभ ‘कल्प’ रखने के लिए लाए गए संशोधन विधेयक के दौरान बिलासपुर जिले के दो विधायकों में तीखी बहस हुई। बेलतरा से भाजपा के युवा विधायक सुशांत शुक्ला और कोटा से कांग्रेस के विधायक अटल श्रीवास्तव के बीच जमकर बहस हो गई। उल्लेखनीय है कि, इस संबंध में विधेयक संस्कृति मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने सदन में पेश किया। विधेयक के मुताबिक, राजिम पुन्नी मेले का नामकरण कुंभ मेले के रूप में होगा। इस पर कुरूद से भाजपा विधायक अजय चंद्राकर ने पक्ष रखते हुए कहा कि, पिछली सरकार ने छत्तीसगढ़ की संस्कृति और इतिहास से छेड़छाड़ किया। अजय चंद्राकर के इतना कहते ही दोनों पक्षों के बीच नोंक-झोंक शुरू हो गई। विपक्षी सदस्यों ने नाम बदलने का विरोध शुरू कर दिया। कांग्रेस विधायक अटल श्रीवास्तव ने कहा- हमारी संस्कृति को मिटाने की कोशिश न करें। इस पर अजय चंद्राकर ने कहा- सिर्फ नाम में ही संशोधन हो रहा है, लेकिन इसी से राजिम का गौरव जुड़ा है। इसके बाद सदन में विधेयक पर चर्चा के दौरान दोनों पक्षों में तीखी बहस शुरू हो गई। इसी बीच अटल श्रीवास्तव और सुशांत शुक्ला के बीच तीखी बहस हुई।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Recommended News

Related News