सिंधिया के समर्थन में उतरे कांग्रेस नेता, बोले- उनको नजरअंदाज करना पार्टी को पड़ सकता है भारी

2/18/2020 11:35:59 AM

भोपाल: मध्य प्रदेश में सीएम कमलनाथ और कांग्रेस के दिग्गज नेता ज्योतिरादित्य का आपसी विवाद सुर्खियों में हैं। कांग्रेस और बीजेपी नेता दोनों की आपसी तकरार पर अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। इसी बीच भोपाल कांग्रेस के जिला कार्यकारी अध्यक्ष कृष्णा घाटगे ने सोशल मीडिया पर सिंधिया के पक्ष में बयान दिया है। उनका कहना है कि सिंधिया को इस तरह नजरअंदाज करना कांग्रेस को अब भारी पड़ सकता है। घाटगे सिंधिया समर्थक माने जाते हैं और सिंधिया के भोपाल प्रवास के समय उनके कार्यक्रमों की कमान उन्हीं के हाथ में रहती है।



कृष्णा ने कहा है कि 2018 के चुनाव के बाद से ही कार्यकर्ताओं में आशा की किरण जागी थी कि अब मुख्यमंत्री न सही परंतु अध्यक्ष के रुप में ज्योतिरादित्य सिंधिया को हम मध्य प्रदेश की सक्रिय राजनीति में देख पाएंगे। लेकिन लगातार हो रहे नजरअंदाजी से अब कार्यकर्ताओं का भी मनोबल टूटता जा रहा है। हम राहुल गांधी से पूछना चाहते हैं कि क्या कांग्रेस को मात्र 5 वर्षों के लिए ही मध्यप्रदेश में जीवित रखना हैं या एक लंबे समय के लिए कांग्रेस की सरकार की जरुरत है। बार-बार कई नेताओं की टिप्पणियों से जनता और कार्यकर्ताओं में गलत मैसेज जा रहा है। सिंधिया आज से सड़क पर नहीं है।

PunjabKesari

वह पिछले 18 वर्षों से सक्रिय राजनीति में चाहे धूप हो या छांव, दिन हो या रात ,सदा जनता के लिए सड़क पर लड़ते आए हैं और आज भी उन्होंने जो बयान दिया है वह बिल्कुल सही है कि जो हमारा मेनिफेस्टो है वह हमारे लिये ग्रन्थ की तरह है और उसके लिए सड़कों पर लड़ेंगे। हमारे जैसे हजारों लाखों कार्यकर्ता भी उनके साथ हैं और हम आलाकमान को आगाह करना चाहते हैं कि यदि अब ज्योतिरादित्य सिंधिया जी को कमान नहीं दी गई तो निश्चित रूप से कांग्रेस को नुकसान होगा। सिंधिया के पक्ष में दिया गया कृष्णा का यह बयान एक बार फिर मध्य प्रदेश की कांग्रेस में चल रही अंदरूनी कलह को उजागर कर रहा है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Edited By

meena

Related News

Recommended News