लोगों की सांसों को बचाने वाले कोरोना योद्धा पटवारी नितिन पालीवाल का निधन, CM शिवराज ने जताया शोक

4/23/2021 1:18:47 PM

खंडवा(निशात सिद्दीकी): कोरोना काल में ऑक्सीजन संकट की स्थिति में पीथमपुर में फंसे वाहनों को लाने वाले कोरोना योद्धा  एक सड़क हादसे में घायल हुए थे। पालीवाल ने हादसे के बाद शुक्रवार की सुबह सातवें दिन दम तोड़ दिया। सिर में गंभीर चोट होने से इंदौर के निजी अस्पताल में इलाज चला रहा था। वह ऑपरेशन के बाद आईसीयू में थे। एक दिन पूर्व वीडियो कॉल पर परिजन व साथियों से बातचीत की थी। पालीवाल के जाने से रेवेन्यू विभाग में शोक की लहर है। उनके निधन पर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर शोक व्यक्त किया है। 

PunjabKesari

खंडवा स्थित 57, शिवपुरम कॉलोनी निवासी पटवारी नितिन पालीवाल पुनासा अनुभाग के मूंदी हल्के में पदस्थ थे। ईमानदार और कर्मठ होने के चलते पूर्व में पुनासा एसडीएम ओर वर्तमान में खंडवा की एसडीएम  ममता खेड़े ने उन्हें कोविड के दौरान विशेष जिम्मेदारियां दी। पालीवाल संक्रमण काल में भी दिन-रात सेवाएं दे रहे थे। अब उनके परिवार में पत्नी शीतल पालीवाल, बड़ी बेटी सुहानी (13) व उससे छोटी निशी (10) हैं। सरल, सौम्य व्यवहार के ऐसे कोरोना योद्वा का शोक समाचार मिलने से प्रशासनिक भी हतप्रभ है।

खंडवा एसडीएम का आदेश पाते ही पटवारी नितिन पालीवाल साथियों के साथ पीथमपुर गए, वाहनों को खंडवा के लिए निकाला। लौटते समय रास्ते में मानपुर घाट पर हादसा हुआ। बोलेरो वाहन पलटी खा गई। वाहन में 5 पटवारी थे, सिर में गंभीर चोट लगने से पटवारी नितिन पालीवाल को इंदौर के निजी अस्पताल में भर्ती कराया। ऑपरेशन होने के बाद वे आईसीयू में थे। हादसे के सातवें दिन शुक्रवार को उन्होंने दम तोड़ दिया।

PunjabKesari

पटवारी संगठन के अश्विन सैनी ने बताया राजस्व विभाग के पटवारियों की ड्यूटी ऑक्सीजन सिलेंडर की व्यवस्था से लेकर होम आइसोलेट मरीजों के घर पर लगा दी गई है। ऐसे ही खंडवा से ऑक्सीजन सिलेंडर पीथमपुर लेने गए पिकअप वाहन करीब चार दिनों से वहां फंसे थे। इन वाहनों को प्रबंधन के माध्यम से बाहर प्रवेश कराने खंडवा के 5 पटवारियों की टीम बनाकर भेजी गई थी। ये सभी पटवारी शनिवार शाम खंडवा से निकले थे। पीथमपुर जाकर फंसे वाहनों को निकलवाया। लौटते समय रात 10 बजे मानपुर घाट पर बाइक सवार को बचाने के चक्कर में वाहन पलट गया। सैनी के अनुसार मूंदी के पटवारी नितिन पालीवाल के अलावा पटवारी सत्यनारायण दरबार, रामशंकर मीणा, शिवेश मौर्य, शहबाज कुरैशी भी सवार थे, जिन्हें हल्की चोटें आई थी।

पुनासा एसडीएम चंदरसिंह सोलंकी ने बताया कि पटवारी नितिन पालीवाल प्रशासनिक कुशलता के धनी थे। कोरोना संक्रमण काल में ड्यूटी के दौरान हादसा हुआ है। कोरोना योद्धा का सम्मान कलेक्टर के माध्यम से शासन को प्रस्ताव भेजेंगे। शासन की गाइडलाइन अनुसार जो भी मदद आश्रितों को मिलेंगी, हर संभव दिलाएंगे।


Content Writer

meena

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Recommended News

static