गांधी जयंती पर 500 कैदियों को रिहा करेगी सरकार, 11 सेंट्रल जेलों में आजीवन कारावास काट रहे कैदी जाएंगे घर

9/28/2022 4:08:13 PM

ग्वालियर (अंकुर जैन): प्रदेश की 11 सेंट्रल जेलों में लंबे समय से आजीवन कारावास की सजा भुगत रहे 500 कैदियों के लिए 2 अक्टूबर गांधी जयंती की सुबह नई रोशनी की किरण लेकर आएगी। जेल मुख्यालय भोपाल से मिले आदेश के बाद अब प्रदेश की सभी 11 सेंट्रल जेलों में आजीवन कारावास की सजा काट रहे बंदियों को रिहा किए जाने की प्रक्रिया शुरू हो गई है। पूर्व में जेल मुख्यालय कैदियों को रिहा करता था। अब राज्य सरकार की अनुशंसा पर कैदियों को रिहा किया जाएगा। लगभग 500 बंदियों को इस बार छोड़ा जा रहा है। सरकार पूर्व में 15 अगस्त, 26 जनवरी को कैदियों को छोड़ती थी। अब साल में 4 बार कैदियों को रिहा किया जाएगा। 2 अक्टूबर के अलावा अब 14 अप्रैल बाबा साहेब आंबेडकर जयंती पर भी बंदियों को आजाद किया जाएगा। ग्वालियर सेंट्रल जेल द्वारा भोपाल मुख्यालय को 95 बंदियों का रिहा करने का प्रस्ताव बनाकर भेजा है और जितने बंदियों की स्वीकृति मिलेगी उन्हें रिहा किया जाएगा।

आपको बता दें कि प्रदेश की 11 सेंट्रल तथा 50 जिला जेलों में 48 हजार 679 कैदी सजा काट रहे हैं। इनमें 15 हजार से ज्यादा कैदी आजीवन कारावास वाले हैं। 20 हजार 479 दंडित बंदी हैं, जिनमें 1066 महिलाएं भी हैं। बताया जा रहा है कि 28150 विचाराधीन कैदी हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Related News

Recommended News