हल्का पटवारी ने अपर कमिश्नर के निर्देश का नहीं किया पालन, खसरे में भू स्वामी के जगह दूसरे का चढ़ाया नाम

5/13/2022 2:57:16 PM

रीवा (सुभाष मिश्रा): प्रशासनिक कर्मचारियों में अनुशासन के साथ कार्य करने की एक बहुत ही गंभीर विधा है। यहां पर हर कर्मचारी अपने बड़े अधिकारी के आदेशानुसार कार्य करते हैं चाहे वह छोटा काम हो या फिर चाहे कोई बड़ा कार्य। लेकिन इसका एक मामला सामने आया है जो रीवा जिले के जवा तहसील अंतर्गत पटवारी हल्का अकौरी का है। यहां पटवारी ने खुलेआम अपर कमिश्नर के निर्देशों को दरकिनार कर अपने मनमानी तरीके से बेधड़क राजस्व खसरे में फेरबदल कर नाम परिवर्तित कर दिया।

अपर कमिश्नर के निर्देशों के अवेहलना 

पटवारी यदुनाथ अहिरवार ने यह साबित कर दिया है कि तहसीलदार, कलेक्टर और कमिश्नर के निर्देशों को अगर खंडन कर सकता है तो केवल हल्का पटवारी। अगर प्रशासनिक ब्यवस्था इसी तरह चरमराती रहेगी तो किसानों, कमजोर और आम जनता को दिक्कतों का सामना करना पड़ेगा। आम जनता अपने न्याय के लिए किसके पास गुहार लगाएंगी?

खसरे में भूमि स्वामी का हटाया नाम

चंद्रशेखर प्रसाद पटेल की जमीन चंद्रशेखर प्रसाद के नाम दर्ज नंबर को यथावत रखने का अपर कमिश्नर ने स्थगन के निर्देश दिए थे। जिसमें खसरे में दिए गए भूमि स्वामी के नाम को यथावत रखने की बात कही गई थी। साथ ही कमिश्नर के स्थगन निर्देश दिए जाने के बाद एसडीएम त्यौथर के निर्देश को स्थगित किया गया था। इसके बाद भी हल्का पटवारी यदुनाथ अहिरवार ने कमिश्नर के निर्देश की धज्जियां उड़ाते हुए खसरे में लिखे भूमि स्वामी को हटाकर नाम में परिवर्तन कर दिया। जो अपर कमिश्नर के निर्देशों की अवहेलना है। इस तरह के कार्य से पटवारी द्वारा प्रशासन के विरुद्ध कार्य करने को रेखांकित करता है। 

पटवारी पर मामला उलझाने का आरोप

ऐसे कार्य को देखते हुए शिकायत कर्ता का कहना है कि कहीं पटवारी हल्का यदुनाथ अहिरवार ने कही लेन देन कर मामले को उलझाने के प्रयास से ऐसा कार्य तो नहीं किया गया है?


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Devendra Singh

Related News

Recommended News