कविता रैना हत्याकांड की फिर से होगी जांच, एडिशनल कमिश्नर ने गठित की दो टीमें

5/17/2022 4:16:07 PM

इंदौर (सचिन बहरानी): इंदौर में 7 साल पहले भंवरकुआं थाना क्षेत्र में रहने वाली एक महिला के 7 टुकड़े कर शव को नाले में फेंक दिया था। जिसके बाद तत्कालीन डीआईजी संतोष कुमार द्वारा एक आरोपी को गिरफ्तार भी किया था। लेकिन कोर्ट ने आरोपी को बरी कर दिया था। 7 साल बीत जाने के बाद एडिशनल कमिश्नर राजेश हिंगणकर ने दोबारा से जांच करने के लिए दो टीम गठित की है। जिसकी जिम्मेदारी डीसीपी क्राइम निमिश अग्रवाल को सौंपी गई है। इसके साथ ही 10 साल में हुए 30 ब्लाइंड मर्डर की जांच भी शुरू कर दी है। 

PunjabKesari

कविता रैना हत्याकांड की फिर से खुलेगी केस डायरी: पुलिस 

दरसअल पूरा मामला 26 अगस्त 2015 का है। जहां मित्र बंधु नगर में रहने वाली कविता रैना घर से अपने बच्चे को लेने के लिए निकली थी। उसके बाद से वह लापता हो गई थी। वहीं दूसरे दिन कविता रैना की तीन इमली चौराहे के नाले में 7 टुकड़ो में शव मिलने से सनसनी फैल गई थी। एडिशनल कमिश्नर राजेश हिंगणकर ने पूरे मामले को संज्ञान में लेते हुए एक बार फिर से कविता रैना हत्या कांड की जांच के लिए दो टीमें बनाई है। जिसकी जिम्मेदारी क्राइम ब्रांच के डीसीपी निमिष अग्रवाल को सौंपी गई है।

30 ब्लाइंड मर्डर से भी हटेगा पर्दा

इसी के साथ ही एडिशनल कमिश्नर राजेश हिंगणकर ने 30 ऐसे ब्लाइंड मर्डर की सूची तैयार की है, जोकि पिछले दस सालों से नहीं सुलझ पाए हैं। अब देखने वाली बात होगी कि कविता रैना की हत्या को करीब 7 साल बीत चुके हैं। जिसमे दो डीआईजी संतोष कुमार और हरिनारायण चारी मिश्र भी जांच कर चुके हैं, यहां एडिशनल सीपी राजेश हिंगणकर की मेहनत अब कविता रैना के केस में कब तक आरोपी को अपनी गिरफ्त में ले पाएगी।  


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Devendra Singh

Related News

Recommended News