कमलनाथ की CM शिवराज से मांग, निर्धन परिवारों को दिया जाए ''कन्या विवाह योजना'' का लाभ

4/8/2021 1:43:01 PM

भोपाल: पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ओबीसी आरक्षण के बाद अब किसी दूसरे मामले में सीएम शिवराज को पत्र लिखा है। इस बार कमलनाथ ने कन्या विवाह योजना को लेकर सीएम शिवराज को पत्र लिखा है। उन्होंने लिखा है कि कोरोना के चलते कन्या विवाह योजना बंद कर दी गई थी। जिसे अब चालू किया जाए। 


कमलनाथ ने पत्र में लिखा है कि मध्यप्रदेश में निर्धन परिवारों की कन्याओं के विवाह हेतु मुख्यमंत्री कन्या विवाह/निकाह योजना संचालित है। कांग्रेस सरकार द्वारा योजना में देय राशि को 28000 /- रुपये से बढ़ाकर 51000 रुपये किया गया था। योजनान्तर्गत सामूहिक विवाह कार्यक्रमों में विवाह सम्पन्न कराने के साथ देय राशि प्रदाय कर लाभ दिया जाता था, परन्तु मार्च 2020 से कोरोना महामारी के कारण प्रदेश में सामूहिक विवाह कार्यक्रम आयोजित नहीं होने से निर्धन परिवारों को योजना का लाभ नही मिल रहा है। कोरोना महामारी के कारण विगत एक वर्ष में रोजगार के अवसर जाने, श्रमिकों को कार्य न मिलने, कृषकों एवं छोटे/फुटकर व्यापारियों को आर्थिक हानि होने से प्रदेश के आमजन की वित्तीय स्थिति अत्यंत खराब है परन्तु निर्धन परिवारों द्वारा अत्यंत कठिनाई के साथ विवाह कार्यक्रम किये जा रहे है और शासन द्वारा पात्र कन्याओं को योजना का कोई लाभ भी नहीं दिया जा रहा है। कोरयोना की परिस्थितियों के सामान्य होने की कोई समय-सीमा नियत नही की जा सकती है एवं सरकार की वर्तमान नीति अनुसार योजना का लाभ पात्रों को नही। मिल पायेगा जो कि प्रदेश की निर्थन कन्याओं के साथ अत्यंत अन्याय होगा। अतएव वर्तमान नीति में परिस्थिति अनुसार परिवर्तन आवश्यक है। मेरा आपसे अनुरोध है कि मुख्यमंत्री कन्या विवाह/निकाह योजना के प्रचलित नियमों में संशोधन कर सामूहिक विवाह कार्यक्रम के आयोजन की बाध्यता को समाप्त करते हुए सीमित दायरे में आयोजित एकल विवाह कार्यक्रमों को मान्यता प्रदान कर प्रदेश की कनन्‍्याओं को योजना का लाभ प्रदान करने के निर्देश प्रसारित कराने का कष्ट करेंगे। 

 

 

 

 


Content Writer

Vikas Tiwari

Related News