MP को मिली दूसरी महिला मुख्य सचिव, कौन है वीरा राणा? प्रदेश की पहली मुख्य सचिव को क्यों कहा जाता था आयरन लेडी? पढ़िए इस खास रिपोर्ट में

11/30/2023 11:49:11 AM

भोपाल (विवान तिवारी): मध्यप्रदेश प्रशासन के सर्वे सर्वा की कुर्सी पर कौन बैठेगा इसको लेकर लगातार बीते कुछ दिनों से चर्चाएं चल रही थी। कई आईएएस अफसरों का नाम प्रशासनिक गलियारों में हर रोज बैठकें लगाने वाले पंडितों की जुबान पर बैठता उतरता बैठता उतरता मगर एक नाम था जो सबसे ज्यादा चर्चाओं में था आईएएस अफसर वीरा राणा। आखिरकार उन्हें मध्य प्रदेश के मुख्य सचिव की कुर्सी पर बैठा दिया गया है। राणा प्रदेश की दूसरी महिला मुख्य सचिव होगी। इससे पहले निर्मला बुच प्रदेश की मुख्य सचिव रह चुकी है।

• कौन है राणा

प्रदेश की दूसरी महिला मुख्य सचिव बनी वीरा राणा भारतीय प्रशासनिक सेवा 1988 बैच की आईएएस अफसर है। जानकारी के अनुसार 26 मार्च 1964 को उत्तर प्रदेश में जन्मी राणा ने अपना ग्रेजुएशन बैचलर ऑफ आर्ट्स और मास्टर्स MBA से किया है। राणा को मध्य प्रदेश के कठोर अनुशासन प्रिय प्रशासनिक अधिकारियों की गिनती में गिना जाता है।

ये मध्य प्रदेश माध्यमिक शिक्षा मंडल की अध्यक्ष, प्रदेश की मुख्य निर्वाचन अधिकारी, खेल और युवा कल्याण विभाग की एडिशनल चीफ सेक्रेटरी, प्रशासन अकादमी में महानिदेशक, कुटीर और ग्रामोद्योग विभाग और सामान्य प्रशासन विभाग कार्मिक जैसे महत्वपूर्ण विभागों की जिम्मेदारियों को संभाला हैं।

PunjabKesari

• इनसे पहले आईएएस निर्मला बुच को माना जाता था आयरन लेडी

इससे पहले मध्य प्रदेश के प्रशासनिक बागडोर को संभालने की जिम्मेदारी पहली बार निर्मला बुच मिली थी। इनकी कार्यशैली ऐसी थी कि इन्हें आयरन लेडी के नाम से जाना जाता था। प्रदेश की पहली मुख्य सचिव बुच मध्य प्रदेश कैडर की 1960 बैच की आईएएस थीं। इस चर्चित महिला अधिकारी ने जुलाई 2023 में अंतिम सांस ली। लंबी बीमारी के बाद 97 वर्ष की आयु में उनका निधन हुआ। वही उनका विवाह आईएएस महेश नीलकंठ के साथ हुआ था। इन सब के साथ ये बताया जाता है की उनकी कार्य कुशलता का लोहा सभी दल और सरकारें खूब मानती थीं। यही वजह रही कि उन्हें मध्य प्रदेश की आयरन लेडी कहा जाने लगा था।

• दो बार मिल चुका है इकबाल सिंह बैस को एक्सटेंशन

बता दे कि 85 बैच के आईएएस इकबाल सिंह बैंस मौजूदा शिवराज सरकार के सबसे खास अधिकारी जाने जाते हैं। बैस 30 नवंबर 2022 को ही सेवानिवृत्त हो गए थे, मगर एक दिन पहले ही रात 29 नवंबर को 6 महीने के लिए 30 मई 2023 तक उन्हे एक्सटेंशन दे दिया गया और उसके बाद जब 30 मई पास आई तो प्रदेश में विधानसभा चुनाव का समय करीब था ऐसे में फिर से दोबारा 6 महीने के लिए 30 नवंबर 2023 तक बैस विस्तार दिया गया। अब यह तारीख 7 दिन बाद आ रही है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Recommended News

Related News