DGP के दिए कैशलेस चालान का आदेश बेअसर, TI से निचले स्तर वाले भी वसूल रहे नकद चलान.

11/22/2020 5:26:47 PM

रायपुर (सूर्यपाल): छत्तीसगढ़ की राजधानी में DGP के कैशलेस चालान का आदेश बेअसर साबित हो रहा है। अभी भी TI के निचले स्तर वाले भी नकद चालान वसूल रहे हैं। आपको बता दें कि डेढ़ साल पहले ही डीजीपी ने सभी तरह के नकद चालान को कैशलेस करने का आदेश दिया था, लेकिन ऐसा होता नहीं दिख रहा है, अभी भी चालान की नकदी वसूली की जा रही है।

PunjabKesari, Chhattisgarh, Raipur, cashless, cash challan, DGP order, Chhattisgarh Police, Raipur Police

दरअसल छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर में ट्रैफिक चालान की कार्रवाई को पेपरलेस और भ्रष्टाचार रोकने के लिए डेढ़ साल पहले डीजीपी ने सभी तरह के चालान नकद के बजाय एटीएम कार्ड के जरिए भुगतान लेने का आदेश दिया था। अब राजधानी में इस आदेश की धज्जियां उड़ाते हुए ट्रैफिक पुलिस अपने पुराने ढर्रे पर लौट गई है। चालान का भुगतान नकद लिया जा रहा है। साथ ही कई जगह TI स्तर से नीचे के अधिकारी भी चालान काट रहे हैं।

PunjabKesari, Chhattisgarh, Raipur, cashless, cash challan, DGP order, Chhattisgarh Police, Raipur Police

वहीं अगस्त 2019 में डीजीपी डीएम अवस्थी ने रायपुर में ट्रैफिक चालान कटने पर राशि नकद लेने पर रोक लगा दी थी। ट्रैफिक पुलिस को स्वाइप मशीन के जरिए एटीएम कार्ड या अन्य ऑनलाइन साधन के जरिए चालान का भुगतान लेने का आदेश दिया था। मीडिया से बातचीत करते हुए यातायार ASP एम आर मंडावी ने बताया कि ट्रैफिक चालान को कैशलेस करने का मुख्य उद्देश्य किसी भी तरह के भ्रष्टाचार पर रोक लगाना और चालान प्रक्रिया को पारदर्शी करना था। इससे यातायात पुलिस का आम लोगों में विश्वास बढऩे और पुलिस व जनता के बीच सामंजस्य स्थापित करना था। लेकिन राजधानी में ही अधिकांश स्थानों पर इसका पालन नहीं हो रहा है


Vikas Tiwari

Related News