खुर्जा पॉटरी और मुरादाबाद की सजावटी वस्तुओं की निर्माण इकाईयों के लिए अचारपुरा में जमीन देंगे: चौहान

9/22/2021 10:22:28 AM

भोपाल, 21 सितंबर (भाषा) मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि खुर्जा पॉटरी और मुरादाबाद में बनने वाली सजावटी वस्तुओं की निर्माण इकाइयाँ स्थापित करने के लिए भोपाल के पास अचारपुरा में भूमि उपलब्ध कराई जाएगी। उन्होंने कहा कि राज्य शासन निवेश को हरसंभव सहयोग प्रदान करेगा। मध्य प्रदेश जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी।

अधिकारी ने मंगलवार को चौहान का हवाला देते हुए कहा, ‘‘मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि कई उद्योग और व्यापार चीन के वैकल्पिक स्थानों की तलाश में हैं। कोरोना वायरस ने यह अवसर प्रदान किया है। हम इसमें कोई कोर-कसर नहीं छोड़ेंगे। हमें चीन को पीछे छोड़ना है। विश्व में बढ़ रही भारतीय हैण्डीक्राफ्ट (हस्तशिल्प) की माँग को देखते हुए इनकी निर्माण इकाइयों को हरसंभव सहायता प्रदान की जाएगी।’’ उन्होंने कहा कि मुरादाबाद और खुर्जा में पॉटरी, डेकोरेटिव स्टोन वेयर, मेटल, लकड़ी और फैब्रिक आधारित होम डेकोर के निर्माताओं और निर्यातकों के प्रतिनिधियों ने मुख्यमंत्री से भोपाल में उनके निवास पर सोमवार को भेंट की थी।
अधिकारी ने बताया, ‘‘प्रतिनिधि मंडल ने खुर्जा पॉटरी और मुरादाबाद में बनने वाले सजावटी सामान की निर्माण इकाइयाँ मध्य प्रदेश में स्थापित करने की इच्छा जताई है। इन इकाइयों से 3,000 व्यक्तियों के लिए रोजगार के अवसर निर्मित होंगे। इसमें 10 प्रतिशत अवसर महिलाओं के लिए होंगे।’’ उनके मुताबिक मुख्यमंत्री चौहान ने कहा है कि खुर्जा पॉटरी और मुरादाबाद में बनने वाली सजावटी वस्तुओं की निर्माण इकाइयाँ स्थापित करने के लिए भोपाल के पास अचारपुरा में भूमि उपलब्ध कराई जाएगी।
इस अवसर पर मध्य प्रदेश उद्योग विभाग के प्रमुख सचिव संजय शुक्ला तथा खुर्जा और मुरादाबाद से आए निवेशक अमित परमार, मोहम्मद नदीम हुसैन और अजय तोमर उपस्थित थे।
चौहान ने खुर्जा और मुरादाबाद में बनी सजावटी सामग्री का अवलोकन भी किया। खुर्जा पॉटरी का बड़ा कप, मेटल और वुड से निर्मित शतरंज सेट, साइड टेबल, फोटो फ्रेम तथा अन्य सजावटी वस्तुएं देखी। खुर्जा पॉटरी और मुरादाबाद की सजावटी सामग्री की अमेरिका, यूरोप, पश्चिम एशिया सहित कई स्थानों पर मांग है।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Recommended News

static