indore mayor election 2022: चुनावी समर में कूदा संजय शुक्ला का परिवार, ''मुख्यमंत्री'' के लिए बोल दी ये बात

6/27/2022 6:43:40 PM

इंदौर (सचिन बहरानी): इंदौर महापौर (indore mayor) पद के प्रत्याशी संजय शुक्ला (sanjay shukla) का परिवार भी उनकी तरह चुनाव मैदान में उतर आया है। अब संजय शुक्ला के बेटे सागर शुक्ला (sagar shukla) अपने पिता के लिए चुनावी सभाएं आयोजित कर उनके लिए वोट मांग रहे हैं। उन्होंने संबोधित करते हुए कहा है कि मेरे पिता जुबान के पक्के हैं। वे प्रदेश के झूठे घोषणा वीर की तरह झूठी घोषणाए नहीं करते हैं। वे कल यहां हुकुमचंद मिल के मजदूरों की बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि मेरे पिता ने मिल मजदूरों की संघर्ष समिति के पदाधिकारियों से चर्चा करते हुए यह वादा किया है कि महापौर बनने के बाद मिल के मजदूरों को उनके अधिकार के पैसे दिलाने के कार्य को प्राथमिकता से करेंगे। आपको यह मान लेना चाहिए कि जो उन्होंने कहा है वह वह करके दिखाएंगे। वह प्रदेश के घोषणा वीर की तरह झूठी घोषणाएं नहीं करते हैं।

PunjabKesari

बेटे ने पिता के पक्ष में मांगे वोट

सागर शुक्ला को हरनाम सिंह धालीवाल, नरेंद्र श्रीवंश, किशनलाल बोखरे ने हुकूमचंद मिल मजदूरों से मिलवाया और मजदूरों द्वारा उनका आत्मीय स्वागत किया गया। उसके बाद उनकी समस्याओ से अवगत करवाया। जिस पर उन्होंने मज़दूरों को विश्वास दिलाया कि मेरे पिता संजय शुक्ला को आप महापौर चुने। उनके महापौर बनते ही आपको किए जा रहे भुगतान मे निगम द्वारा पैदा की जा रही सारी अड़चने 6 माह मे दूर करके मज़दूरों को उनके हक़ का पैसा दिलवाया जायेगा। इस पर मिल मजदूरों ने भी शुक्ला को समर्थन देने का वादा किया।

समाज के लिए कुछ नहीं करने वाले को वोट मांगने का अधिकार नहीं- अंजली शुक्ला 

कांग्रेस प्रत्याशी संजय शुक्ला की पत्नी अंजली शुक्ला (anjali shukla) ने पति के समर्थन में जनसंपर्क और मीटिंग की। उन्होंने विधानसभा क्षेत्र क्रमांक 1 के वार्ड क्रमांक 11 में जनसंपर्क किया जनसंपर्क के दौरान स्थान स्थान पर मतदाताओं से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि जिस व्यक्ति ने समाज के लिए कुछ नहीं किया हो उसे वोट मांगने का भी अधिकार नहीं है। जब हम मतदाताओं से मत देने का आग्रह करते हैं तो उनके सामने अपने कामकाज का ब्यौरा रखते हैं और फिर वोट मांगते हैं जिन्होंने काम ही नहीं किया है। वह आज महापौर पद के लिए वोट मांगने आ रहे हैं। एक अनजान व्यक्ति और अनजान चेहरे को हम अपने शहर की चाबी कैसे सौप सकते हैं?  


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Devendra Singh

Related News

Recommended News