केंद्र सरकार ने MP में बांटे अनाज को बताया घटिया, कांग्रेस बोली- राक्षसराज के चर्चे हर तरफ हैं..!

9/2/2020 12:10:57 PM

भोपाल(प्रतुल पाराशर): लॉकडाउन में गरीबों की मदद के नाम पर शिवराज सरकार द्वारा बांटा गया मुफ्त अनाज गुणवत्ता में घटिया पाया गया। जांच में पाया गया कि यह अनाज ना केवल घटिया किस्म का है बल्कि इंसानों के खाने के लायक भी नहीं है। इसके बाद केंद्र सरकार ने इस अनाज को जानवरों को खिलाने की सलाह दी है। इसे लेकर अब विपक्ष ने सवाल उठाते हुए इसे राक्षसराज बताया है और कहा है कि सत्ता के लालच में गरीबों के साथ मजाक किया गया है।

PunjabKesari

मध्य प्रदेश कांग्रेस ने ट्वीट करते हुए कहा कि शिवराज सरकार में बांटे गए घटिया अनाज के चर्चे चारों तरफ हो रहे हैं। शिवराज सरकार ने सत्ता की लालसा में गरीबों की सेहत को भी दरनिकार कर दिया। शिवराज सरकार ने ऐसा घटिया अनाज बांटकर जनता के साथ खिलवाड़ किया है। 

PunjabKesari

गरीबों को बांटा गया अनाज घटिया- केंद्र सरकार
बालाघाट और मंडला के आदिवासी बाहुल्य जिलों में गोदामों में भरा घटिया चावल बांटने का मामला सामने आया है। इस मामले में केंद्र सरकार से शिकायत की गई, गुणवत्ता जांची में खुलासा हुआ की ये चावल जानवरों को खिलाने लायक है। केंद्र सरकार ने जब जांच के आदेश दिए तो  31 डिपो और एक राशन की दुकान से चावलों के सैंपल लिए गए। जिनमें CGAL लैब में परीक्षण के बाद पाया गया कि सारे नमूने ना सिर्फ मानकों से खराब हैं, बल्कि वो फीड-1 की श्रेणी में हैं जो बकरी, घोड़े, भेड़ और मुर्गे जैसे पशुधन को खिलाने लायक हैं।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

meena

Recommended News

static