खाना देना भूला मालिक तो रॉटविलर डॉगी ने मालिक को नोच खाया, शरीर पर किए 60 से ज्यादा घाव

1/30/2024 1:39:43 PM

ग्वालियर: जिस डॉग का बच्चे की तरह पालन पोषण किया अपने परिवार का हिस्सा समझा उसी पालतू डॉगी ने मालिक के शरीर को बुरी तरह नोच डाला। मालिक के शरीर पर 60 से ज्यादा घाव कर दिए। पालतू डॉगी बुजुर्ग मालिक पर इस कदर भड़का कि उसके हाथ और पैरों से मांस नोचता रहा बेबस बुजुर्ग मालिक अपनी जान बचाने के लिए कोशिश करता रहा। गनीमत यह रही कि मालिक के बेटे ने पिता की चीख पुकार सुन ली और जैसे तैसे पालतू डॉगी को काबू करके उनकी जान बचाई।

PunjabKesari

दिल दहला देने वाला यह मामला मध्य प्रदेश के ग्वालियर का है। जहां रॉक्सी पुल के रहने वाले 63 वर्षीय तेजेंद्र घोरपडे ने अपने घर पर रॉटविलर नस्ल का डॉगी पाल रखा है। सोमवार को तेजेंद्र घोरपड़े अपने पालतू डॉग को दोपहर का खाना देना भूल गए। रात को उसे याद आया कि उसने अपने डॉगी को खाना नहीं दिया तो वह करीब 12 बजे अपने डॉगी को खाना देने पहुंच गया। इधर भूख से तिलमिलाए डॉगी ने तेजेंद्र घोरपडे पर हमला कर दिया।

PunjabKesari

डॉगी ने तेजेंद्र को जगह-जगह काटना और अपने दांतों से मांस खींचना शुरू कर दिया। तेजेंद्र अपने डॉगी के इस व्यवहार से डर गए। इसी बीच डॉगी और ज्यादा हिंसक हो गया और उसने मालिक के पैर और हाथों का मांस अपने दांतों से नोचना शुरु कर दिया। तेजेंद्र घोरपडे की चीख पुकार सुनकर उनका बेटा अमित मौके पर पहुंचा तो उसने देखा कि डॉगी उसके पिता को नोच रहा था और पिता खुद बचाने की कोशिश कर रहे हैं। इसके बाद अमित ने डॉग के गले के पट्टे को पकड़ कर उसे काबू में किया, लेकिन तब तक तेजेंद्र घोरपडे के शरीर पर 60 से ज्यादा गहरे घाव हो चुके थे। लहूलुहान पिता को लेकर अमित तुरंत जयारोग्य अस्पताल पहुंचा, जहां सर्जिकल वार्ड में तेजेंद्र घोरपडे का इलाज जारी है।

संभावना जताई जा रही है कि भूख के कारण ही रोटविलर नस्ल का यह डॉगी इतना हिंसक हो गया था। इसलिए उसने अपने मालिक पर ही हमला कर दिया। बता दें कि पिट बुल के बाद रॉट विलर ऐसा दूसरा हिंसक नस्ल का डॉग है, जो अपने मालिक तक पर हमला कर देता है। इसलिए घरों में डॉगी रखने से पहले लोगों को सतर्क रहने की जरूरत है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Recommended News

Related News