क्या सच में मुसलमानों की तुलना में घट रही हिंदुओं की संख्या? दिग्विजय के ट्वीट से छिड़ी नई बहस

9/23/2021 12:42:15 PM

भोपाल: अपने बयानों को लेकर चर्चा में रहने वाले मध्य प्रदेश के दिग्गज कांग्रेस नेता एक बार फिर सुर्खियों में हैं। उनके एक ट्वीट को लेकर सोशल मीडिया में बहस सी छिड़ गई है। यह ट्वीट हिंदू मुस्लिमों की आबादी को लेकर किया गया है। लोग इसमें धार्मिक और राजनीतिक ऐंगल भी निकालने लगे हैं। कांग्रेस नेता ने एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए दावा किया है कि हिंदोस्तान में हिंदुओं की आबादी लगातार घट रही है और दावा किया है कि यदि जन्मदर ऐसे ही घटती रही तो 2028 तक मुस्लमानों की संख्या हिंदुओं की संख्या से ज्यादा होगी।

दरअसल, कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह ने अपने ट्वीट में एक रिपोर्ट का जिक्र किया है जिसमें धार्मिक आबादी को लेकर टिप्पणी की है। वॉशिंगटन डीसी स्थित गैर-लाभकारी एजेंसी प्यू रिसर्च सेंटर द्वारा तैयार रिपोर्ट में यह अध्ययन हर 10 साल में होने वाली जनगणना और राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य सर्वेक्षण (NFHS) के आंकड़ों के आधार पर किया है। इसमें बताया गया है कि भारत की धार्मिक आबादी में किस तरह के बदलाव आए हैं।

PunjabKesari

रिपोर्ट में बताया गया है कि हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई लगभग सभी धार्मिक समूहों की प्रजनन दर में काफी कमी आई है। हालांकि भारत में सबसे ज्यादा आबादी हिंदुओं की है लेकिन 1992 से 2015 के बीच मुस्लिम आबादी तेजी से बढ़ रही है और सभी धार्मिक समूहों में प्रजनन दर में कमी आई है। ऐसे में हिंदुओं में भी यह आंकड़ा तेजी से घटा है। उदाहरण के तौर पर पहले एक परिवार में 3-4 बच्चे होते थे लेकिन अब परिवार 2 या 1 बच्चे ही चाहता है। वहीं मुस्लिम परिवारों में पहले 4 से ज्यादा बच्चे होते थे लेकिन अब यह आंकड़ा घटकर 2 रह गया है। ऐसे ही ईसाई और सिखों में है। इस हिसाब से अब मुस्लिमों की संख्या हिंदुओं की तुलना है बढ़ रही है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Recommended News

static