पति की जान लेने के बाद बच्चों का गला घोटा, फिर खुद भी की आत्महत्या, एक ही परिवार के 4 सदस्यों की मौत पर बड़ा खुलासा

5/15/2022 5:39:53 PM

रायपुर(शिवम दुबे): रायपुर में तिल्दा में कारोबारी परिवार की हत्या और खुदकुशी मामले में पुलिस ने बड़ा खुलासा किया है। पुलिस के मुताबिक, कारोबारी की पत्नी ने ही इस सारी घटना को अंजाम दिया था। पुलिस की मानें तो अपने गुस्सैल स्वभाव की वजह से ही एक मां हत्यारिन बन गई। उसने पहले पति के सिर पर हथोड़ा मारकर हत्या कर दी फिर अपने दोनों छोटे बच्चों का गला दबाकर जान ले ली।

पोस्टमार्टम की रिपोर्ट ने खोले कई राज
तिल्दा पुलिस ने मामले को लेकर परिवार के अन्य सदस्यों से पूछताछ की और शार्ट पीएम रिपोर्ट के जरिए भी कई जानकारियां जुटाई। पुलिस ने बताया कि महिला रुचि जैन की मौत, पति पंकज और बच्चों, बिट्टू (11 साल की बेटी ) भय्यू (8 साल का बेटा)की मौत के बाद हुई। रुचि के शव की जांच से यह बात साबित हुआ है कि उसकी हत्या नहीं की गई बल्कि उसने खुद फांसी लगाकर आत्महत्या की थी। पोस्ट मार्टम में कारोबारी के सिर पर लगी गहरी चोट और बच्चों के गले पर पड़े निशानों से साबित हो गया कि तीनों की हत्या की गई है। पड़ोसियों से बातचीत में पुलिस को इस बात की जानकारी भी हुई कि महिला बड़ी गुस्सैल थी। वे अक्सर अपनी बेटी बिट्टू को कभी चिमटे तो कभी बर्तन से पीटती थी। छोटी छोटी बातों को लेकर मारपीट करती थी। इस बात पर पति पत्नी में बहुत झगड़ा होता था। पंकज जैन अपनी बेटी से बहुत प्यार करता था और पत्नी को बेटी को पीटने से रोकता था। पति पत्नी में झगड़े की दूसरी वजह पंकज जैन की बहन भी रही। पड़ोसियों और परिजनों की मानें तो वारदात के अगले ही दिन पंकज अपनी बहन को लेने के लिए पास के ही गांव जाने वाला था। इस बात पर भी पंकज और रूचि जैन में झगड़ा हुआ क्योंकि रूचि को पति की बहन का घर में आना जाना पसंद नहीं था। उस दिन दोनों में इस बात को लेकर झगड़ा हुआ था। विवाद इतना बढ़ा कि पत्नी ने पति के सिर पर हथौड़ी दे मारी। इससे पंकज जैन की मौके पर ही मौत हो गई।

बच्चों को भी बेरहमी से मारा
घटनास्थल का मुआयना करने पर पुलिस ने यह पाया कि पंकज की मौत के बाद रुचि को पुलिस का डर सताने लगा। उसे लगा कि यदि वह पकड़ी गई तो बच्चों का भविष्य खराब हो जाएगा। ऐसे में उसने दोनों बच्चों को गला दबाकर मार डाला। अब तक की पुलिस और फॉरेंसिक एक्सपर्ट की जांच की बात करें तो यह तथ्य पुख्ता माना जा रहा है कि कारोबारी के घर बाहर से कोई भी व्यक्ति नहीं आया। जब घटना की जानकारी मिली तब कमरा अंदर की तरफ से बंद किया गया था। फॉरेंसिक एक्सपर्ट्स ने पूरे घर की जांच की है किसी भी व्यक्ति के बाहर से अंदर आने या बाहर जाने का कोई सुराग नहीं मिला है। ना ही किसी तरह की कोई फिंगरप्रिंट। ऐसे में इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता कि सबकुछ खत्म करने के बाद वह खुद भी फांसी पर झूल गई।

हालांकि इस पूरे प्रकरण में रुचि जैन का परिवार हत्या होने के आरोप लगा रहा है, रुचि जैन के परिवार का कहना है कि इस मामले के पीछे जो भी हो उसके खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए। हालांकि अब तक किसी बाहरी व्यक्ति द्वारा इस वारदात को अंजाम दिए जाने की कोई भी सबूत नहीं मिले हैं।

बता दें कि रायपुर के तिल्दा में शुक्रवार बजरंग चौक इलाके में रहने वाले पंकज जैन के पूरे परिवार की लाशें उनके घर पर मिली थी। पंकज जैन (45) का सीमेंट-सरिया का कारोबार था। पंकज अपनी पत्नी रुचि जैन (40), दो बच्चों बिट्‌टू जैन (11) और भय्यू जैन (8) के साथ रहते थे। पहली नजर में मामला हत्या का लग रहा था लेकिन अब इसमें नए खुलासे हुए हैं।

 

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Related News

Recommended News