BJP सिर्फ आरोप, दोहरी बातें और नाटक नौटंकी कर सकती है: कमलेश्वर पटेल

5/11/2022 4:34:46 PM

इंदौर (सचिन बहरानी): मध्य प्रदेश में अब OBC आरक्षण के बिना ही चुनाव होंगे। यह फैसला सुप्रीम कोर्ट ने दिया है। वहीं ओबीसी वोट को अपने पाले में करने के लिए बीजेपी और कांग्रेस अब एक दूसरे पर निशाना साध रही है। इस कड़ी में पूर्व मंत्री कमलेश्वर पटेल ने शिवराज सरकार पर बड़ा हमला बोला है। कांग्रेस नेता ने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा सिर्फ आरोप लगा सकती है, दोहरी बातें बोल सकती है और नाटक नौटंकी कर सकती है। कमलेश्वर पटेल ने कहा कि जिस तरह से ओबीसी को मिला हुआ अधिकार छीनने का भाजपा सरकार ने काम किया यह दुर्भाग्यपूर्ण है। कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि बीजेपी ने सुप्रीम कोर्ट में सही जानकारी नहीं दी। जिसकी वजह से इस तरह का निर्णय आया है और इसके लिए पूरी भाजपा सरकार जिम्मेदार है। कमलेश्वर पटेल ने कहा कि पिछड़ा वर्ग के लोगों से उन्हें माफी मांगना चाहिए।


भाजपा नया अध्यादेश क्यों लाई?

पूर्व मंत्री कमलेश्वर पटेल ने ओबीसी आरक्षण वाले मुद्दे पर आए सर्वोच्च न्यायालय के फैसले के बाद अपनी राय रखी। उन्होंने आगे कहा कि नियम प्रकिया से 5 बार पंचायती राज अधिनियम के तहत मध्यप्रदेश में चुनाव हुए 2 बार कांग्रेस सरकार ने कराए और 3 बार भाजपा ने कराया और उस नियम के तरह हमने प्रक्रिया पूरी कर ली थी। सिर्फ जिला पंचायत अध्यक्षों का आरक्षण पूरा नहीं हुआ था। फिर भाजपा नया अध्यादेश क्यों लाई? कांग्रेस नेता ने कहा भाजपा ने जानबूझकर उलझाने का काम किया, यह चाहते तो समय पर चुनाव भी हो जाते, जो चुने हुए जनप्रतिनिधि थे, या जो चुनने की आकांक्षा रखते थे। उनको सबको मौका मिलता। महिलाओं समेत पुरुषों को मौका मिलता।

नई प्रक्रिया अपनाकर जानबूझकर उलझाया मामला 

कमलेश्वर पटेल ने कहा जो अधिनियम बना था, उससे हर वर्ग संतुष्ट था। भाजपा ने जानबूझकर पूरी नई प्रक्रिया अपनाकर उलझाने का काम किया है और भाजपा का जो हिडन एजेंडा है उसमें कहीं ना कहीं यह कारगर साबित होते नजर आ रहे हैं। भाजपा ने जानबूझ कर यह नई प्रक्रिया अपनाकर उलझाने का काम किया है। उन्होंने जानबूझकर ऐसी स्थिति पैदा की है अगर सही जानकारी सुप्रीम कोर्ट में समय पर दे देते तो हम समझते कि सुप्रीम कोर्ट ओबीसी के पक्ष में निर्णय करता। इस तरह का जो निर्णय आया है, इसके लिए पूरी भाजपा सरकार और भाजपा के नेता जिम्मेदार है। यह आरोप-प्रत्यारोप कुछ भी लगाएं 27 % आरक्षण ओबीसी को जो नौकरियों में मिला है उसे दिग्विजय सिंह ने लागू किया था। इन्होंने पैरवी अच्छे से नहीं की। इसलिए हाई कोर्ट में हार गए।

आज भी चल रहा है कोर्ट में मामला 

वहीं पूर्व मंत्री रामेश्वर पटेल ने कहा कि एक तरफ मानहानि के मुकदमे पर 10 लाख का अधिवक्ता खड़ा करते हैं और और दूसरी तरफ ओबीसी के मामले में इनके पास इतनी व्यवस्था नहीं थी कि पैरवी अच्छे से करते। कांग्रेस नेता ने कहा कि कमलनाथ सरकार ने जो आरक्षण लागू किया था। उसमें सिर्फ 3 विभागों में रोक लगी थी। भाजपा को हाई कोर्ट का निर्णय समझने में इनके एडवोकेट जनरल को इनकी सरकार में बैठे अधिकारी, कर्मचारी और मंत्रियों को साल भर का समय लग गया है और मिला हुआ अधिकार छीनने का काम करते हैं। आज भी कोर्ट में प्रकरण लंबित चल रहा है और सुनवाई चल रही है।

भाजपा, आरएसएस का छुपा हुआ है एजेंडा: कांग्रेस नेता 

कांग्रेस नेता ने आरोप लगाया कि भाजपा की नीयत में ही खोट है। इसकी वजह से ही इस प्रकार की स्थिति पैदा हुई है। ना नौकरी में आरक्षण, ना पंचायत में, ना नगरीय निकाय चुनाव में आरक्षण। यह कही न कही भाजपा, आरएसएस का छुपा हुआ एजेंडा है। उसे लागू करने का प्रयास हो रहा है। वहीं भाजपा के आरोप पर उन्होंने कहा कि कांग्रेस कोर्ट गई, सरकार अगर कोई गलती करती है तो लोगों के पास ऑप्शन तो कोर्ट ही होता है। हाई कोर्ट, सुप्रीम कोर्ट ही तो होता है। अब क्या भाजपा के कहने पर कोर्ट जाएंगे। न्याय पाने के लिए ही लोग न्यायालय में जाते हैं। पहले भाजपा अपनी गलती स्वीकार करें, जो अध्यादेश लाये थे, फिर वापस लेना पड़ा। इनकी सरकार ने ही अध्यादेश वापिस लिया। इसलिए ऐसी स्थिति पैदा हुई।

इसके लिए बीजेपी नेता हैं जिम्मेदार: कमलेश्वर पटेल 

क्यों लाये यह नया अध्यादेश जबकि इसकी जरूरत नहीं थी। इतना बढ़िया पंचायती राज का एक्ट बना हुआ है। जिसे दूसरे राज्य अनुसरण करते है। दूसरे राज्यों ने अनुसरण करके अपने राज्यों में चुनाव के समय फॉलो किया और आज भी उसी अधिनियम के तहत दूसरे राज्य चुनाव करा रहे है जिस तरह है, हमारी न्याय व्यवस्था है सभी वर्गों को न्याय देने की वह कांग्रेस पार्टी ने महात्मा गांधी के सपने को साकार करने के लिए राजीव गांधी ने 73 ओर 74 संशोधन विधेयक लाकर त्रिस्तरीय पंचायती राज का गठन किया। उसके तहत ही यह सारी व्यवस्थाए बनी थी और आज जो भी स्थिति पैदा हुई है। वह पूरी तरीके से भाजपा के नेताओं की गलतियों की वजह से पूरे तरीके से भाजपा के लोग जिम्मेदार है।  


सबसे ज्यादा पढ़े गए

News Editor

Devendra Singh

Related News

Recommended News