1 महीने से फरार दुष्कर्म के आरोपी शुभांग गोटिया का सुराग नहीं लगा पाई पुलिस

7/23/2021 5:10:08 PM

जबलपुर(विवेक तिवारी): मांग में सिंदूर भर कर झूठी शादी रचा कर एक युवती के साथ रेप करने वाले अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के पूर्व पदाधिकारी शुभांग गोटिया का जबलपुर पुलिस कोई भी सुराग नहीं लगा पाई है। एक महीना बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथ खाली हैं तो वहीं आरोपी एवं उसके परिजन बेखौफ अंदाज में अंतरिम जमानत के लिए अदालत का दरवाजा भी खटखटा चुके हैं लेकिन इस मामले में पुलिस के हाथ पूरी तरह से खाली हैं। जबलपुर पुलिस वैसे तो बड़े बड़े मामलों को हल करने में सबसे आगे होती है लेकिन रेप जैसे इस संगीन मामले में वह बेहद पिछड़ गई है। हाल यह है कि पीड़िता और उसका परिवार डरा सहमा है। उसको हर वक्त यही डर सताता रहता है कि शुभांग गोटिया कहीं उसका कुछ और भी बुरा ना कर दे वह बार-बार पुलिस के यहां चक्कर लगा रही है कि शुभांग गोटिया को गिरफ्तार किया जाए तो यहां शुभांग गोटिया अदालत में अंतरिम जमानत की अर्जी लगा चुका है। सवाल यहां पर यही उठ रहा है कि पुलिस उसको अब तक क्यों गिरफ्तार नहीं कर पाई है। हमारे सूत्र बताते हैं कि उसके परिवार का घर में आना जाना अभी भी लगा हुआ है। शुभांग गोटिया के पिता प्रदीप गोटिया अक्सर घर में देखे जा रहे हैं तो वही शुभांग गोटिया भी शहरी इलाके में ही घूम रहा है लेकिन पुलिस उसको अब तक गिरफ्तार नहीं कर पाई है या फिर कहे की पुलिस उसको गिरफ्तार ही नहीं करना चाहती है हालांकि महिला पुलिस थाने की थाना प्रभारी शबाना परवेज गिरफ्तारी न होने पर ईनाम घोषित करवाने का प्रतिवेदन भी पुलिस अधीक्षक को भेज चुकी है लेकिन अभी तक इनाम भी घोषित नहीं हुआ है। ऐसे में सवाल यह उठ रहा है कि क्या इस तरह से आरोपी को बचने का मौका दिया जा रहा है या फिर जिस तरह से पीड़िता ने राजनैतिक रसूख के बारे में अपनी पीड़ा व्यक्त की थी उसी के चलते पुलिस आरोपी के परिवार को ना तो बुला कर पूछताछ कर रही है और ना आरोपी को गिरफ्तार कर रही है एक महीना बीत जाने के बाद भी पुलिस कुछ भी नहीं कर पाई है।

PunjabKesari

पीड़िता 1 हफ्ते पहले दोबारा कर चुकी थी फरियाद
पीड़ित युवती ने एडिशनल एसपी के समक्ष एक हफ्ते पहले शिकायत दर्ज कराई थी कि शुभांग गोटिया और उनका परिवार जबलपुर में ही है लेकिन पुलिस उनको गिरफ्तार नहीं कर रही है महिला पुलिस थाना की टीम जांच में भी कमी कर रही है। पीड़ित युवती ने एडिशनल एसपी संजय अग्रवाल के समक्ष कई प्रमुख बिंदुओं पर अपनी शिकायत दर्ज कराई थी और कहा था की जल्द से जल्द आरोपी को गिरफ्तार किया जाए पीड़िता का यह भी आरोप है कि शुभांग गोटिया और उसके परिवार को राजनीतिक संरक्षण मिल रहा है इस लिहाज से उसका परिवार भी डरा हुआ है उसको डर है कि कहीं उसके परिवार को भी चोट ना पहुंचाई जाए।

3 साल से कर रहा था शोषण
आरोपी पिछले 3 साल से युवती का  शारीरिक शोषण कर रहा था। उसने युवती  की मांग में सिंदूर भरकर बोला था कि हिंदू धर्म के मुताबिक वह उसकी पत्नी है। जब समाज के सामने शादी की बात आई तो बोला कि वो तो उसका ढोंग था।अधारताल क्षेत्र की रहने वाली 23 वर्षीय पीड़िता पुणे से एमबीए की पढ़ाई कर चुकी है। 2018 में उसकी मुलाकात राइट टाउन निवासी शुभांग गोटिया से हुई थी। शुभांग तब अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का महानगर मंत्री हुआ करता था। उसने छात्रा  को प्यार के झांसे में फंसाया और फिर एक दिन उसकी मांग में सिंदूर भरते हुए बोला कि हिंदू धर्म के मुताबिक आज से वे दोनों पति-पत्नी हैं।

PunjabKesari

पुणे भी आरोपी जाता रहता था मिलने
छात्रा ने जबलपुर की महिला थाने में शिकायत दर्ज कराते हुए बताया था कि जब वह पुणे में पढ़ाई कर रही थी, तो आरोपी भी वहां उससे मिलने जाता था। आरोपी पुणे, गोवा, कान्हा-किसली सहित कई स्थानों पर उसे घुमाने के बहाने ले जाकर शारीरिक शोषण करता रहा। जब भी छात्रा उससे शादी करने की बात करती तो बोलता कि हम तो शादी कर ही चुके हैं, बस समाज के सामने होनी है, वो भी हो जाएगी।

जनवरी में आरोपी शादी से मुकर गया
छात्रा ने आरोपी शुभांग से शादी करने की जिद पकड़ी तो वह जनवरी 2021 में साफ मुकर गया। छात्रा की उस समय जॉब भी लग चुकी थी। शुभांग के इस तरह धाेखा देने का सदमा वह बर्दाश्त नहीं कर पाई। उसने जॉब तक छोड़ दिया। छात्रा ने जॉब छोड़ने और अपने साथ हुई आपबीती घरवालों को बताया तो तूफान मच गया। शिक्षा विभाग से जुड़े पिता सहित अन्य परिजनों ने महीनों उससे बात नहीं की। बहन के समझाने पर पिता ने बेटी का दर्द समझा और पीड़ित के पिता बड़ी उम्मीद लेकर शुभांग के पिता बिल्डर  प्रदीप गोटिया के पास गया। बच्चों की गलती को लेकर बात की। कहा कि दोनों की शादी कर हम इस गलती को सुधार दें, लेकिन वे तो बेटी की इज्जत का ही सौदा करने लगे। बोले कि 10-12 लाख रुपए लेकर मामला सेटल कर लो, नहीं तो तुम्हारी बेटी को बदनाम कर देंगे। तुम्हें जहां शिकायत करनी हो, कर लो।

बेटी को लेकर पिता पहुंचा महिला थाने
छात्रा को लेकर पिता महिला थाने पहुंचा। वहां छात्रा ने महिला टीआई शबाना परवेज के सामने अपने कथन दर्ज कराए। सिंदूर भरने वाली फोटो और उनकी आपस में होने वाली बातचीत के रिकॉर्ड सुनाए। मामला भारतीय जनता युवा मोर्चा के पदाधिकारी का था। टीआई ने अधिकारियों को प्रकरण संज्ञान में लाया। इसके बाद आरोपी के खिलाफ रेप का प्रकरण दर्ज हुआ।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Recommended News

static