मध्य प्रदेश की पिछली कांग्रेस सरकार के फैसलों की समीक्षा के लिए नया मंत्रिसमूह गठित

8/8/2020 2:26:38 PM

भोपाल, आठ अगस्त (भाषा) मध्य प्रदेश की भाजपा सरकार ने राज्य में कमलनाथ के नेतृत्व वाली पिछली कांग्रेस सरकार द्वारा लिए गए फैसलों की समीक्षा के लिए नए सिरे से मंत्रियों का समूह गठित किया है।
एक अधिकारी ने शनिवार को बताया कि मंत्रियों का यह नया समूह मंत्रिपरिषद के विस्तार के कुछ दिन बाद बनाया गया है। इसमें नए मंत्री शामिल किये गये हैं।

इससे पहले मई माह में शिवराज सिंह चौहान के नेतृत्व वाली भाजपा सरकार ने सत्ता में आने के बाद 23 मार्च से पहले छह माह में कांग्रेस सरकार द्वारा लिये गये फैसलों की समीक्षा करने के लिए मंत्रियों का एक समूह गठित किया था।

जनसंपर्क विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि सामान्य प्रशासन विभाग ने शुक्रवार को एक आदेश में कहा कि मंत्रियों का एक नया समूह उसी उद्देश्य के लिये गठित किया गया है।

मई माह में गठित किये गये मंत्रियों के इस समूह में प्रदेश के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा, जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट, परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत और किसान कल्याण मंत्री कमल पटेल को शामिल किया गया था। जबकि नई समिति में पटेल और सिलावट को हटा दिया गया है और वाणिज्यक कर मंत्री जगदीश देवड़ा, खाद्य और नागरिक आपूर्ति मंत्री बिसाहूलाल सिंह तथा श्रम मंत्री ब्रजेंद्र प्रताप सिंह को शामिल किया गया है।

गोविंद सिंह राजपूत पिछली कांग्रेस सरकार में राजस्व मंत्री थे।

इस बीच, प्रदेश कांग्रेस के प्रवक्ता भूपेन्द्र गुप्ता ने मंत्रिसमूह में गोविंद राजपूत को शामिल करने पर सवाल उठाया और कहा कि राजपूत राजस्व विभाग के फैसलों की समीक्षा कैसे करेंगे, जो कमलनाथ सरकार के दौरान उनका विभाग था।

वहीं भाजपा प्रवक्ता रजनीश अग्रवाल ने कहा कि कोरोना वायरस महामारी के बढ़ने से उत्पन्न स्थिति में पिछली सरकार के कई फैसलों की समीक्षा की आवश्यकता है।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।


Edited By

PTI News Agency

Related News