मध्य प्रदेश के कई जिलों में मूसलाधार बारिश की संभावना, ‘ऑरेंज, येलो अलर्ट’ जारी

8/11/2022 8:34:13 PM

भोपाल, 11 अगस्त (भाषा) मध्य प्रदेश के अधिकांश भागों में पिछले दो दिनों से जारी भारी बारिश के कारण जनजीवन अस्तव्यस्त होने के बीच भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने प्रदेश के इंदौर, उज्जैन, नर्मदापुरम एवं जबलपुर संभागों के जिलों में आगामी 24 घंटों में कहीं-कहीं पर मूसलाधार बारिश होने को लेकर बृहस्पतिवार को ‘ऑरेंज अलर्ट’ जारी किया है।

इसके अलावा, आईएमडी ने प्रदेश के भोपाल एवं शहडोल संभागों के जिलों में तथा श्योपुर, छतरपुर एवं सागर जिलों में आगामी 24 घंटों में कहीं-कहीं पर भारी बारिश का पूर्वानुमान जताते हुए ‘येलो अलर्ट’ भी जारी किया है।

आईएमडी ने इंदौर, उज्जैन, नर्मदापुरम, भोपाल, शहडोल, जबलपुर, सागर, रीवा, चंबल एवं ग्वालियर संभागों के जिलों में आगामी 24 घंटों में कहीं-कहीं गरज के साथ बिजली चमकने एवं गिरने के लिए ‘येलो अलर्ट’ जारी किया है।

ये सभी अलर्ट शुक्रवार सुबह तक प्रभावी रहेंगे।

मध्य प्रदेश में पिछले दो दिन से रूक-रूक कर हो रही भारी बारिश से नर्मदा, पार्वती एवं बेतवा सहित अधिकांश नदियां और नाले उफान पर हैं और प्रदेश के कुछ हिस्सों में निचले इलाकों में पानी भर गया है।

इसी बीच, मध्य प्रदेश जल संसाधन विभाग के कार्यपालक अभियंता कमलेश रैकवार ने ‘पीटीआई-भाषा’ को बताया कि प्रदेश में बहने वाली नर्मदा सहित कोई भी नदी खतरे के निशान से ऊपर नहीं बह रही है।

उन्होंने कहा कि प्रदेश के 14 बड़े और मझोले बांधों के फाटक खोल दिए गए हैं और लबालब हुए इन बांधों से पानी की निकासी की जा रही है। जिन बांधों के फाटक खोले गये हैं, उनमें इंदिरा सागर बांध भी शामिल है।

पिछले 24 घंटों में (बुधवार सुबह से बृहस्पतिवार सुबह तक) प्रदेश में भैंसदेही में 24 सेंटीमीटर बारिश दर्ज की गई, जबकि सोनकच्छ में 17 सेंटीमीटर, सैलाना एवं जैसीनगर में 15-15 सेंटीमीटर, बेगमगंज एवं रतलाम में 13-13 सेंटीमीटर और शमशाबाद एवं रेहली में 12-12 सेंटीमीटर वर्षा दर्ज की गई।

आईएमडी भोपाल कार्यालय के वरिष्ठ मौसम विज्ञानी पी.के. साहा ने बताया कि बृहस्पतिवार को शाम छह बजे तक गुना एवं मलांजखंड में 26-26 मिलीमीटर बारिश हुई, जबकि भोपाल में 23.9 मिलीमीटर, जबलपुर में 22.6 मिलीमीटर, नर्मदापुरम में 16 मिलीमीटर, उमरिया में 15 मिलीमीटर एवं छिंदवाड़ा में 14 मिलीमीटर बारिश हुई।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News