संजय शुक्ला बोले- स्कूल कॉलेजों के बड़े हॉस्टल को अस्थाई अस्पताल के रूप में तैयार करें

5/12/2021 6:38:56 PM

इंदौर(सचिन बहरानी): कोरोना वायरसकांग्रेस विधायक संजय शुक्ला ने कहा है कि कोरोनावायरस के संक्रमण की तीसरी लहर के आगमन को ध्यान में रखते हुए अभी से तैयारी किया जाना जरूरी है। इसके लिए आवश्यक है कि शहर के सभी प्रमुख स्कूल कॉलेजों के बड़े हॉस्टल को अस्थाई अस्पताल के रूप में तैयार कर लिया जाए । इसमें हर विधायक को एक हॉस्टल की जिम्मेदारी सौंप दी जाए।

शुक्ला ने यह मांग प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री प्रभु राम चौधरी के द्वारा आज रेसीडेंसी कोठी पर बुलाई गई जनप्रतिनिधियों की बैठक में की है। इस बैठक में उन्होंने मंत्री जी को इस बात के लिए धन्यवाद दिया कि इस बार कांग्रेस के विधायकों को भी विचार विमर्श की इस प्रक्रिया में शामिल किया गया है। उन्होंने कहा कि इस समय कोरोना के संक्रमण की तीसरी लहर आने की सूचना चल रही है। पूरे देश में इस लहर को ध्यान में रखते हुए तैयारी की जा रही है। ऐसे में हमें मध्य प्रदेश में सबसे बड़े हॉटस्पॉट के रूप में उभर कर सामने आए इंदौर में भी इस लहर से निपटने के लिए तैयारी करना होगी। इन तैयारियों के बारे में सुझाव देते हुए विधायक शुक्ला ने कहा कि मध्य प्रदेश का एकमात्र शासकीय आवासीय विद्यालय इंदौर में मल्हार आश्रम है। इसमें 500 बिस्तरों वाला हॉस्टल सारी सुविधाओं के साथ तैयार है। इसी तरह से एमवाय अस्पताल के आसपास मेडिकल कॉलेज, नर्सिंग कॉलेज, डेंटल कॉलेज आदि के हॉस्टल भी मौजूद हैं। इसके अतिरिक्त डेली कॉलेज, एमराल्ड हाइट्स स्कूल इनके भी बड़े और विकसित हॉस्टल हैं। इन सभी हॉस्टल में ऑक्सीजन की लाइन बिछाकर उन सभी को तीसरी लहर के दौरान मरीजों के उपचार के लिए अस्थाई अस्पताल के रूप में तैयार करने का काम किया जाना चाहिए। इस कार्य को करने पर जो पैसा खर्च होगा वह निश्चित तौर पर मध्य प्रदेश की सरकार के पास नहीं है। ऐसे में यह जरूरी है कि हर हॉस्टल की जिम्मेदारी एक विधायक को सौंप दी जाए। उस विधायक के द्वारा ही उस हॉस्टल में जनता के सहयोग के माध्यम से सारी सुविधाओं और संसाधन विकसित किए जाएं। सरकार तो ऑक्सीजन की व्यवस्था को आकार देने के काम में अपनी उर्जा लगाएं।

विधायक शुक्ला ने कहा कि जब कोरोना की दूसरी लहर आ गई तब हमारे पास उसकी तैयारियां बिल्कुल भी नहीं थी। उसका परिणाम यह हुआ कि इंदौर में तो संक्रमण के शिकार व्यक्ति अस्पताल में बेड पाने के लिए इधर से उधर घूमते रहे। लोग परेशान होते रहे और व्यवस्थाएं आकार नहीं ले सकी हैं। ऐसी हालत एक बार फिर नहीं हो इसके लिए आवश्यक है कि हम तीसरी लहर के लिए अभी से तैयारी शुरू कर दें। अभी दूसरी लहर के दौरान जिस तरह से ऑक्सीजन का संकट उभर कर सामने आया था, उसे देखते हुए तीसरी लहर के मौके पर हमें पहले से ही ऑक्सीजन की व्यवस्था को पूरा रखना होगा।

रिटायर डॉक्टरों को भी काम पर बुलाएं
विधायक शुक्ला ने कहा कि जिस तरह से मरीजों की संख्या सामने आने की आशंका है। उसे देखते हुए सरकार को अभी से तैयारी करना होगी जो डॉक्टर शासकीय सेवा से सेवानिवृत्त हो चुके हैं। ऐसे सभी डॉक्टरों को एक बार फिर काम पर बुलाने के लिए अभी से तैयारी कर लेना चाहिए ताकि संक्रमण की अवधि में उनकी सेवाओं का लाभ मिल सके। उनके अनुभव से हम मरीजों की जान बचा सकें।

किराना दुकानों को खोल दो
इस बैठक में विधायक संजय शुक्ला ने कहा कि वर्तमान में जिस तरह का कर्फ्यू लगाया गया है, उसमें किराना की दुकानों को सप्ताह में मात्र 2 दिन सोमवार और गुरुवार को खोलने की अनुमति दी गई है यह गलत है। इन दुकानों को सभी दिनों के लिए खोल दिया जाना चाहिए । इसके साथ ही महिलाओं को घर से इन दुकानों पर जाकर खरीदी करने के लिए अनुमति दी जाना चाहिए।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Recommended News

static