पन्ना के बाद अब रीवा की धरती उगलेगी हीरे, जल्द ही बड़ी-बड़ी कंपनियां आजमाएंगी अपने भाग्य

5/9/2022 1:37:42 PM

रीवा(सुभाष मिश्रा): मेरे देश की धरती सोना उगले, उगले हीरे मोती...जी हां यह गीत मध्य प्रदेश की धरती के लिए बिल्कुल सटीक बैठता है। मध्य प्रदेश के पन्ना की धरती हीरों के लिए मशहूर है। जहां खुदाई में अब तक न जाने कितने मजदूरों की किस्मत रातों रात बदल गई और वे लखपति बन गए। लेकिन अब एक और बड़ी खुशखबरी सामने आई है जहां पन्ना के अलावा रीवा की त्योंथर तहसील क्षेत्र के 3 गांवों सोहागी, पूर्वा और मझिगवां को प्रशासन के द्वारा डायमंड ब्लॉक चिन्हित किया गया है जिसके लिए 10 मई से ईटेंडर शुरू किया जाएगा तथा बड़ी-बड़ी कंपनियों के द्वारा क्षेत्र के चिन्हित हुए तीनों गांव में हीरे की तलाश की जाएगी। बताया जा रहा है कि तकरीबन 1 वर्ष पूर्व रीवा में हीरे की तलाश करते हुए सर्वे कराया गया था कि किन स्थानों पर हीरे की संभावना हो सकती है जिसमें अब उस सर्वे के आधार पर जिले के सोहागी, मझिगवां, और पूर्वा गांव को चिन्हित किया गया है।

PunjabKesari

पन्ना के बाद अब रीवा की धरती भी हीरे उगलेगी। अब प्रशासनिक अमले द्वारा रीवा जिले को भी डायमंड ब्लॉक चिन्हित किया गया है जिसके तहत रीवा के त्योंथर तहसील क्षेत्र के 3 गांव सोहागी मझिगवां और पुरवा को डायमंड ब्लॉक चिन्हित किया गया है जिससे अब इन गांवों की जमीनों में हीरे को खोजने की कवायद होगी। बताया जा रहा है कि रीवा की जमीनों में हीरे को तलाशने बड़ी-बड़ी कतार बंद हो कर खड़ी हुई है जिसके लिए आगामी 10 मई से ई टेंडर भरने शुरु कर दिए हैं। रीवा कलेक्टर की माने तो ई टेंडर के माध्यम से कंपनियों के द्वारा यह सिद्ध किया जाएगा कि रीवा में हीरे की खोज करने के लिए कौन सी कंपनी लायक है।

PunjabKesari

दरअसल प्रशासनिक अमले द्वारा 1 वर्ष पूर्व ही रीवा जिले के तराई क्षेत्र में डायमंड की तलाश को लेकर सर्वे कराया गया था जिसमें पाया गया कि रीवा की कुछ चिन्हित भूमिया ऐसे भी हैं जहां हीरे होने की संभावना है जिस को ध्यान में रखते हुए अब रीवा जिले को डायमंड ब्लॉक चिन्हित किया गया है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Related News

Recommended News