जीजा निकला कातिल! दादा की रिटायरमेंट के 15 लाख हड़पने के लिए पोते को किडनैप कर ले ली जान

10/21/2021 5:20:45 PM

ग्वालियर(अंकुर जैन): ग्वालियर जिले के भितरवार इलाके से किडनैप हुए 17 वर्षीय किशोर का शव पुलिस ने शिवपुरी जिले के मणिखेड़ा इलाके से बरामद किया है। इस वारदात को अंजाम देने वाला कोई और नहीं बल्कि किशोर का जीजा ही निकला। इस सनसनीखेज वारदात ने पुलिस ने किशोर के जीजे को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी ने अपना जुर्म कबूल करते हुए बताया कि मृतक किशोर के दादा के रिटायरमेंट के पैसा हड़पने के लिए आरोपी ने क्राइम सीरियल देख कर यह साजिश रची थी। लेकिन पुलिस की तत्परता के चलते वह अपने मंसूबे में कामयाब नहीं हो सका और कानून के हत्थे चढ़ गया।

PunjabKesari

दरअसल 2 दिन पहले 19 अक्टूबर को जिले के भितरवार नया बस स्टैंड के पास रहने वाले रामाकांत रावत ने थाने में पहुंचकर अपने बेटे पुष्पेंद्र रावत के गुम होने की शिकायत की थी। जिसके बाद पुलिस ने केवल गुमशुदगी दर्ज की थी। परिजनों ने किडनैपिंग की भी आशंका जताई थी। इसके बाद जब पांच लाख की फिरौती के लिए परिजनों के पास फोन पहुंचा, तो पुलिस ने मामला अपहरण में तब्दील हो गया था। वहीं युवक के परिजनों ने शंका के आधार पर युवक के अपहरण की आशंका जताते हुए बताया था, कि हमारा इकलौता पुत्र अपने जीजा के साथ देखा गया है। कहीं उसका अपहरण करके फिरौती के लिए ले गया है। इसके बाद जब अपह्त किशोर के लिए पांच लाख की फिरौती मांगी गई तो मामला अपहरण में बदल गया। घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस ने किशोर की तलाश को तेज कर दिया। इसी दौरान पुलिस को बुधवार-गुरुवार की दरमियानी रात को मणिखेड़ा इलाके में एक किशोर का शव मिलने की जानकारी मिली थी। पड़ताल करने पर शव पुष्पेंद्र का निकला। जब मामले की बारीकी से छानबीन की गई तो सब कुछ साफ हो गया और हत्या के मामले में किशोर के जीजा को पकड़कर कड़ाई से पूछताछ की गई, तो जो कहानी सामने निकलकर आई उसके मुताबिक मृतक किशोर पुष्पेंद्र के दादा को रिटायरमेंट में करीब 15 लाख रुपए मिलें थे। इसकी जानकारी आरोपी को थी, क्योंकि मृतक किशोर और आरोपी की अच्छी दोस्ती थी। जिसके कारण वह उसके फोन लगाने पर घर पर यह झूठ बोलकर निकला, कि वह अपने दोस्त के साथ कहीं जा रहा है। इस दौरान जीजा किशोर को बिठाकर शिवपुरी जिले के मड़ीखेड़ा इलाके में के पास ले गया। जहां रस्सी से उसने उसका गला घोट कर हत्या कर दी और उसके फोन से 5 लाख की फिरौती के लिए परिजनों को कॉल किया। लेकिन आरोपी परिजनों से फिरौती वसूल पाता इससे पहले ही पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया। प्रारंभिक पूछताछ में आरोपी ने बताया, कि क्राइम सीरियल देख कर उसके दिमाग में अपहरण कर फिरौती वसूलने का आईडिया आया था। फिलहाल पुलिस से कड़ाई से पूछताछ कर रही है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Related News

Recommended News