बारातियों से भरी बस पलटी, कई घायल, अस्पताल की लिफ्ट खराब, घायलों को गोद में लेकर सीढ़िया चढ़े परिजन

4/21/2022 1:39:28 PM

छतरपुर(राजेश चौरसिया): छतरपुर में बरात से भरी बस पलटने से हड़कंप मच गया। जहां बड़ामलहरा से वापस लौट रही बारात हमा गांव के पास पलट गई जिसमें सवार बाराती बच्चे, महिलाएं, युवा, पुरुष सहित 2 दर्जन से अधिक लोग घायल हुए हैं। जिन्हें जिला अस्पताल लाया गया है। जहां उनका इलाज चल रहा है। छतरपुर जिला मुख्यालय से लगे 3 किलोमीटर दूर गांव हमा निवासी दूल्हा के पिता पूरन अहिरवार ने बताया कि उनके बेटे रमेश की शादी बड़ामलहरा के ग्राम कम्मोदपुरा निवासी मनीषा से तय हुई थी जिसकी बारात 20 अप्रैल को गई थी। जहां गौसिया कंपनी की बस का ड्राइवर रात से ही बारात बस वापिस ले जाने की बात कर रहा था कि उसे सुबह का नंबर उठाना है। और उसने सुबह बस में 50 से अधिक बारातियों को भरा/बैठाया और तेज स्पीड में बड़ामलहरा से छतरपुर बस चलाते हुए लाया। जहां बारातियों ने बताया कि उन्होंने उसे तेज चलाने से मना किया पर वह नहीं माना और हमा गांव पर आते ही तेज रफ्तार बस को गांव की ओर मोड़ दिया जहां वह अनबैलेंस होकर पलट गई जिसमें बैठे सभी बाराती हादसे का शिकार हो गये।

PunjabKesari

लापरवाही- अस्पताल की लिफ्ट खराब, घायलों को गोद में सीढ़ियों से लेकर गये परिजन...
बता दें कि जिला अस्पताल में लगीं 5 लिफ्टों में से 3 लिफ़्ट कई महीनों से खराब चल रहीं हैं जिससे पूरे अस्पताल का भार 2 लिफ्टों पर ही रहता है। जिसके चलते लोग मरीजों और घायलों को लाने ले जाने में काफी परेशानी हुई। यहां परिजन घायलों को गोद में उठाकर सीढ़ियों के सहारे ऑपरेशन थिएटर और सर्जिकल वार्ड की दूसरी तीसरी मंजिल तक ले गए।

PunjabKesari

दूल्हा- रमेश अहिरवार (छतरपुर जिले के ग्राम हमा निवासी की शादी दुल्हन- मनीषा अहिरवार (छतरपुर जिले के बड़ामलहरा के ग्राम कम्मोदपुरा निवासी) से 20 अप्रैल की रात हुई है। मामले में जिला अस्पताल के सर्जन डॉ मनोज चौधरी ने बताया कि बस पलटने की घटना सामने आई है जिसमें अस्पताल में 2 दर्जन से अधिक लोग घायल आये हुए हैं, जिनमें से छह की हालत ज्यादा गंभीर है। हालांकि अब तक किसी की मौत की कोई सूचना नहीं है घायलों का इलाज जारी।

PunjabKesari

मौके पर पहुंचे एसपी सचिन शर्मा ने बताया कि घटना तकरीबन 9 बजे की है। जहां तेज रफ्तार बस पलटी है। घायलों को अस्पताल भिजवाया गया है। हादसे और मामले की जांच चल रही है कि घटना का कारण क्या रहा जांच उपरांत विधिसंवत कार्यवाही की जायेगी।

मामला चाहे जो भी हो पर इतना तय है कि हादसे में बस ड्राइवर की साफ गलती बताई जा रही है। आरोप है कि बस को पहले नंबर पर ले जाने के चलते उसने जल्दबाजी की और यात्रियों की जान पर खेलकर बस को स्पीड में चलाकर चलाया और लापरवाही के चलते इस हादसे का शिकार बनाया।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Related News

Recommended News