कांग्रेस नेता के आलीशान घर पर चले नगर-निगम के बुलडोजर, जुआ खिलाते पकड़े जा चुके हैं नेताजी

11/22/2020 2:46:20 PM

जबलपुर: जुआ किंग के नाम से मशहूर कांग्रेस नेता गज्जू उर्फ गजेंद्र सोनकर को जेल भेजने के बाद रविवार की सुबह-सुबह नगर-निगम के बुलडोजर उसके अवैध निर्माणों को ध्वस्त करने पहुंचे। भारी पुलिस बल की मौजूदगी में प्रशासनिक अमले ने कांग्रेस नेता गजेंद्र सोनकर उर्फ गज्जू के अवैध कब्जों को तोड़ना शुरू कर दिया। 

PunjabKesari, Madhya Pradesh, Jabalpur, Jua King, Gajendra Sonkar, Administrative Action, Congress

दरअसल पिछले दिनों ही पुलिस ने कांग्रेस नेता गजेंद्र सोनकर के ठिकाने पर दबिश देकर जबलपुर के अब तक के सबसे बड़े जुआ फड़ का भंडाफोड़ किया था, जिसके बाद पुलिस की जांच में कांग्रेस नेता के कई काले कारनामों और गोरखधंधों में शामिल होने का खुलासा हुआ था। भारी मात्रा में हथियारों का जखीरा मिलने के बाद पुलिस ने कांग्रेस नेता गजेंद्र सोनकर उसके भाई सोनू सोनकर के खिलाफ एनएसए यानी राष्ट्रीय सुरक्षा अधिनियम के तहत कार्रवाई कर उन्हें जेल की सलाखों के पीछे पहुंचा दिया था। सरकारी जमीन पर कब्जे के दस्तावेज सामने आने के बाद जिला प्रशासन और नगर निगम ने संयुक्त मुहिम चलाते हुए रविवार की सुबह से ही कांग्रेस नेता और जुआ किंग गजेंद्र सोनकर के ठिकानों पर बुलडोजर चलाने शुरू कर दिए। भानतलैया के मेन रोड पर गज्जू सोनकर ने कांग्रेस की आड़ लेकर आलीशान कार्यालय तान रखा था और उसके पीछे बिना स्वीकृति के ही उसने सरकारी जमीन पर कब्जा कर आलीशान महल खड़ा कर दिया था। कार्रवाई के दौरान नगर-निगम के अमले ने कांग्रेस के बोर्ड लगाकर ताने गए कार्यालय को तो ध्वस्त कर ही दिया साथ ही आलीशान मकान के कुछ हिस्सों को भी जमींदोज कर दिया।

PunjabKesari, Madhya Pradesh, Jabalpur, Jua King, Gajendra Sonkar, Administrative Action, Congress

प्रशासनिक अधिकारियों का दावा है कि प्रदेश सरकार द्वारा माफिया के विरुद्ध चलाई जा रही मुहिम के तहत सरकारी जमीनों पर कब्जा करने वाले बड़े भू माफियाओं के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जा रही है। प्रशासन की इस पूरी कार्यवाही पर कांग्रेस नेता गज्जू उर्फ गजेंद्र सोनकर के परिजनों ने सवाल खड़े किए हैं। उनका आरोप है कि पुलिस और प्रशासन स्थानीय नेताओं के इशारों पर बदले की भावना से कार्रवाई कर रहा है। उनका आरोप है कि कार्रवाई के पहले न तो परिवार को सूचना दी गई और न ही किसी प्रकार का नोटिस दिया गया है।


Vikas Tiwari

Related News