लॉकडाउन के दौरान मुख्यमंत्री चौहान तकनीकी माध्यमों से चला रहे हैं सरकार

5/22/2020 4:38:45 PM

भोपाल, 22 मई (भाषा) कोरोना वायरस की महामारी से बचने के लिए केन्द्र सरकार द्वारा लगाये गये देशव्यापी लॉकडाउन के दौरान मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सामाजिक दूरी का पालन करते हुए तकनीकी उपकरणों के जरिए सरकार चला रहे हैं और सोशल मीडिया के माध्यम से लोगों से संचार कर रहे हैं।
मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस ने भी लॉकडाउन के दौरान 38 वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से 53 घंटे तक अधिकारियों के साथ ऑनलाइन बैठक कीं। राज्य सरकार के अन्य विभाग भी लॉकडाउन और सामाजिक दूरी का पालन करते हुए वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से कामकाज कर रहे हैं।
प्रदेश सरकार के एक अधिकारी ने शुक्रवार को बताया कि देशव्यापी लॉकडाउन 24 मार्च को लागू होने से एक रात पहले प्रदेश के मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने वाले चौहान ने 81 वीडियो कॉन्फ़्रेंस में सरकारी अधिकारियों सहित अलग-अलग वर्गों से कुल 149 घंटों का संवाद किया।
अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री ने संचार के सभी माध्यमों को अपनाते हुए सोशल मीडिया का भी भरपूर उपयोग किया है।
उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने अपने फेसबुक अकाउंट पर 23 मार्च से आज तक 108 से अधिक वीडियो और ट्वीटर पर 58 वीडियो पोस्ट किए हैं। 22 ‘लाइव इवेंट’ के माध्यम से मध्य प्रदेश की जनता से सीधी चर्चा की गई। इसके साथ ही फेसबुक पर करीब 8 करोड़ रीच हुई, प्रतिदिन 13 लाख इंप्रेशन फ़ेस बुक हैंडल पर मिले और ट्विटर पर 23 लाख इंप्रेशन प्राप्त हुए।
उन्होंने बताया कि इसके अलावा सीएमओ के फेसबुक अकाउंट पर 23 मार्च के बाद से अब तक मुख्यमंत्री द्वारा कोरोना संकट की रोकथाम व अन्य व्यवस्थाओं को लेकर लिए गए महत्वपूर्ण फैसलों व दिशा-निर्देशों की जानकारियों से संबंधित 125 से अधिक वीडियो पोस्ट की गई, जिनकी अन्य पोस्ट के साथ मिलाकर रीच करीब 4 करोड़ 65 लाख है। साथ ही सीएमओ के ट्विटर अकाउंट पर इस दौरान इंप्रेशन करीब 14.2 मिलियन रहे।
राष्ट्रीय सूचना विज्ञान केन्द्र (एनआईसी) के वरिष्ठ तकनीकी निदेशक मयंक नागर ने बताया कि मुख्यमंत्री सूचना और संचार प्रौद्योयागिकी का पूरा उपयोग कर रहे हैं। इस दिशा में एन.आई.सी. की टीम सक्रिय रूप से कार्य कर रही है।
नागर ने कहा कि चौहान ने वीडियों कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से राज्य के हर वर्ग के लागों से बातचीत की है। इसके अलावा 81 वीडियों कॉन्फ्रेसिंग के माध्यम से अपने अधिकारियों से संपर्क किया है।
आधिकारिक जानकारी के अनुसार प्रदेश के मुख्य सचिव इकबाल सिंह बैंस ने भी 38 वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिये 53 घंटों तक अधिकारियों के साथ ऑनलाइन मीटिंग की है।
उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य, खाद्य, सहकारिता, चिकित्सा शिक्षा, वन, वित्त विभागों द्वारा भी वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग और वीडियो कॉलिंग तकनीक का इस्तेमाल कर कोविड-19 से बचाव के लिए किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की गई।


यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।


Edited By

PTI News Agency

Related News