कंडम वाहन इलक्ट्रॉनिक वाहन में तब्दील, डोर टू डोर इक्ट्ठा करेंगे कचरा

8/15/2022 3:57:23 PM

इंदौर(सचिन बहरानी): मध्य प्रदेश की आर्थिक राजधानी इंदौर कि नगर निगम के वर्कशॉप डिपार्टमेंट में एक नया कमाल कर दिखाया है जिसमें निगम का कचरा वाहन जो कि बहुत पुराना हो चुका था और कंडम श्रेणी में आ चुका था उसे निगम की वर्कशॉप टीम ने इलेक्ट्रिक वाहन में तब्दील किया है। निगमायुक्त ने बताया कि आने वाले समय में डोर टू डोर कचरा उठाने के लिए इन्हीं वाहनों का उपयोग किया जाएगा।

PunjabKesari

आपको बता दें स्वच्छता में देश में नंबर वन आने के लिए इंदौर के कचरा वाहनों ने बहुत साथ निभाया है। साथ ही कई वाहन पुराने हो चुके हैं और कई वाहनों के पुर्जे इतने महंगे हैं कि उनको मेंटेन करना भी महंगा निगम को पड़ रहा है। इसी बीच नगर निगम की वर्कशॉप विभाग की टीम ने एक पुरानी हो चुकी कचरा गाड़ी को इलेक्ट्रिक वाहन में तब्दील कर दिया है। निगमायुक्त प्रतिभा पाल ने बताया कि नगर निगम ने एच वी बी स्टार्टअप के साथ मिल कर एक पुराने वाहन जिसे हम राइट ऑफ करने का प्लान कर रहे थे, लेकिन वर्कशॉप इंचार्ज और उनकी टीम ने उस वाहन को इलेक्ट्रिक वाहन में तब्दील किया।

PunjabKesari

निगमायुक्त ने बताया कि वाहन की मार्केट कॉस्ट जो है वह साढ़े 400000 रुपए है जबकि इसको वर्कशॉप में कन्वर्ट किया है तो यह 300000 रुपए में कन्वर्ट हुआ है और आने वाले समय में हम यह प्लान कर रहे हैं कि जितने भी पुराने वाहन हैं उन सब को इलेक्ट्रिक वाहनों में तब्दील कर सकें यह वाहन की क्षमता भी अच्छी है। यह वाहन एक बार चार्ज होने के बाद 3 दिन तक चल रहा और आने वाले समय में डोर टू डोर कचरा लेने वाले वाहनों का या तो सीएनजी या इलेक्ट्रिक वाहन ही रखे जाएंगे जितने भी डीजल बेस वाहन है वह सारे के सारे हटाने की तैयारी है, उन्होंने आगे कहा कि हम हर बार नई गाड़ियां खरीदते हैं लेकिन इलेक्ट्रिक व्हीकल महंगा जरूर है और डीजल और सीएनजी वाहन लगभग समान राशि के आ रहे हैं जबकि हमारे पास बायो सीएनजी प्लांट है और सीएनजी की जो कॉस्ट है वह बाजार से भी 5 रुपए सस्ती है और आने वाले समय में नगर निगम की फ्लाइट एयर क्वालिटी इंडेक्स को सुधारने में भी कहीं न कहीं सुधारने में करेगा।

PunjabKesari

वही नवनिर्वाचित महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने बताया कि हमने 2015 में स्वच्छता की गाड़ियां खरीदी थी जिनको हम हटाने की योजना तैयारी कर रहे थे। हमने स्टार्टअप्स के साथ मिलकर उनको इलेक्ट्रिक व्हीकल में कन्वर्ट करके फिर से उन्हीं रास्तों पर उनको उपयोग करने का प्रयास आज से शुरू किया है। आपको बता दें ध्वजारोहण के बाद नवनिर्वाचित महापौर ने डोर टू डोर कचरा कुलेक्शन के लिए इलेक्ट्रिक व्हीकल का भी उद्घाटन किया है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Related News

Recommended News