हाथों पर मेहंदी लगाकर सात फेरे लेने को तैयार थी नन्ही दुल्हन, अधिकारी आए और रुकवा दिया बाल विवाह...

5/3/2022 7:21:27 PM

जबलपुर(विवेक तिवारी): खेलने-कूदने के दिन में नन्हें हाथों पर मेहंदी लगाने की तैयारी कर ली गई। मंडप सज गया, मेहमानों को बुला लिया गया। सात फेरे लेने की अंतिम तैयारियों को पूरा किया जा रहा था। लेकिन ऐन मौके पर महिला एवं बाल विकास विभाग के अधिकारियों ने पहुंचकर सारी तैयारियों पर पानी फेर दिया। या यूं कहे कि मासूम को कच्ची उम्र में दुल्हन बनने से रोक दिया। पूरा मामला बरगी विधानसभा के शहपुरा ग्राम कौलोन का है। यहां पर एक पिता और उनके रिश्तेदारों ने 15 साल की मासूम का विवाह तय कर दिया था। निर्धारित कार्यक्रम के तहत मासूम का विवाह होने वाला था लेकिन महिला एवं विकास विभाग को इसकी जानकारी पहुंची तो मौके पर जाकर बाल विवाह को रूकवाया गया और परिजनों को समझाइश दी गई वह 18 वर्ष पार होने के बाद ही लड़की का विवाह कराएं।
PunjabKesari

शहपुरा बाल विकास आंगनवाडी परियोजना अधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि कलेक्टर के निर्देशानुसार शहपुरा एसडीएम अनुराग सिंह के मार्गदर्शन में बाल विवाह रुकवाया गया। आगे उन्होंने बताया कि ग्राम कुलोन की बालिका उम्र 15 वर्ष का विवाह बेलखेड़ा पावला निवासी अजय के साथ होने जा रहा था। आंगनवाड़ी कार्यकर्ता एवं बालिका की अंकसूची के अनुसार जन्मतिथि 09/02 /2007 अंकित है। उक्त प्रमाण के आधार पर माता पिता और परिवार वालों को समझाइश देकर बाल विवाह का कार्यक्रम रोक दिया गया। माता-पिता ने शपथ पत्र लिखा कि पुत्री के 18 वर्ष होने के पश्चात विवाह करेंगे। कार्यवाही के दौरान परियोजना अधिकारी पुलिस विभाग की टीम मौजूद थी।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Related News

Recommended News