क्या ऐसे होती है जनसुनवाई? महिला टीचर को कलेक्टर के सामने घसीटकर बाहर निकाला(video)

10/6/2021 3:24:11 PM

छतरपुर(राजेश चौरसिया): यूं तो जनसुनवाई पीड़ित और परेशान लोगों की परेशानियां सुनने के लिए होती हैं लेकिन छतरपुर में मंगलवार की जनसुनवाई में एक अजीबो गरीब मामला देखने को मिला। जहां एक दलित शिक्षक महिला अपना स्थानांतरण रुकवाने के लिए कलेक्टर शीलेंद्र सिंह के पास आवेदन लेकर पहुंची। इस दौरान अपना पक्ष रखते हुए महिला ने बहस की तो उसे 2 महिला पुलिसकर्मियों द्वारा घसीटकर जनसुनवाई केंद्र से बाहर निकाल दिया गया। घटना का यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है।

PunjabKesari

दरअसल, जनसुनवाई में अपनी परेशानी लेकर पहुंची महिला का नाम हरबाई अहिरवार है। वह एक शिक्षिका है और अपना स्थानांतरण रुकवाने के लिए कलेक्ट्रेट पहुंची थी। वह बसारी स्कूल में पदस्थ हैं, उसके पति की मौत हो चुकी है। उसने सभा कक्ष में ही जिला शिक्षा अधिकारी संतोष शर्मा पर आरोप गंभीर आरोप लगाते हुए हंगामा शुरु कर दिया। महिला के हंगामे को देखते हुए एसडीएम यूसी मेहरा के निर्देश पर 2 महिला पुलिसकर्मियों ने उक्त महिला शिक्षिका को घसीटते हुए जनसुनवाई केंद्र से बाहर निकाल दिया।

PunjabKesari

महिला शिक्षिका ने बताया कि उसका बेटा मानसिक रूप से बीमार रहता है और वह स्वयं ब्लडप्रेशर की मरीज है, वर्ष 2014 से लगातार जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा महिला शिक्षिका को तरह-तरह से परेशान किया जा रहा है। उसने बताया कि उसकी क्रमोन्नति भी आज दिनांक तक जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा नहीं लगाई गई।

PunjabKesari

महिला ने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि बसारी क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले स्कूलों की जांच कराई जाए जहां पर बड़े घर की बहू बेटी महिला शिक्षिकाऐं कार्यरत हैं और वह महीने में केवल एक या दो दिन ही स्कूल जाया करती हैं। जबकि मैं नियमित रूप से अपने कार्य और कर्तव्य का पालन करते हुए कार्य कर रही हूं। लेकिन जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा लगातार मुझे प्रताड़ित किया जा रहा है।

PunjabKesari

उक्त गंभीर मामले में एसडीएम यूसी मेहरा ने कहा कि महिला शिक्षिका के आवेदन पर उसको आश्वासन दिया गया कि- यदि संभव होगा तो उसका स्थानांतरण रद्द किया जाएगा अन्यथा शासन के नियमानुसार उसका स्थानांतरण किया गया है महिला के साथ किसी प्रकार की अभद्रता नहीं की गई है। वहीं जिला कलेक्टर शैलेंद्र सिंह इस मामले में कुछ भी कहने से बचते हुए नजर आए। फिलहाल अब देखना दिलचस्प होगा कि महिला को जनसुनवाई कक्ष से अमानवीय तरीके से घसीटा जाना और उसका वीडियो वायरल होने के बाद शासन प्रशासन क्या कार्यवाही करता है यह एक बड़ा सवाल है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Related News

Recommended News