मंत्री उषा ठाकुर ने आदिवासियों पर दिया विवादित बयान, जयस ने सीेएम शिवराज से की कार्रवाई की मांग

6/14/2021 2:17:09 PM

इंदौर(सचिन बहरानी): इंदौर मध्यप्रदेश सरकार में मंत्री उषा ठाकुर का आदिवासियों को लेकर विवादित बयान का वीडियो वायरल हुआ है जिस पर जयस के राष्ट्रीय संरक्षक हीरालाल अलावा ने कड़ी आपत्ति लेते हुए मध्य्प्रदेश की शिवराज सरकार से एक्शन लेने की बात कही व उन्हें कैबिनेट मंत्री के पद से तत्काल बर्खास्त करने की मांग की।

PunjabKesari

दरअसल, मंत्री उषा ठाकुर का एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा जिसमें मंत्री ने अब जंगल और पहाड़ पर रहने वाले आदिवासियों को विचित्र जगह में रहने वाला बताया है। इसी बयान को लेकर जयस राष्ट्रीय संरक्षक हीरालाल अलावा ने आपत्ति जताते हुए कहा कि आदिवासियों की पहचान उनकी संस्कृति उनके संवैधानिक अधिकारों का ज्ञान अच्छे से होना चाहिए आपको आदिवासियों के बारे में ज्ञान होना चाहिए आज आदिवासियों की पहचान ही उनके जल जंगल और जमीन है उनके भौगोलिक स्थिति विशेष संस्कृति विशेष स्वाभाव के कारण ही उन्हें शेड्यूल्ड ट्राइब कहा है आप आदिवासियों की समस्या को सकारात्मक लेने के बजाय उसका समाधान करने के बजाय आप उन्हें यह कहते हुए नजर आ रही हैं कि आप विचित्र जगह पर क्यों रहते हैं। यह दुर्भाग्यपूर्ण है। हीरा लाल अलावा का कहना है कि मंत्री उषा ठाकुर को इस देश के मूल निवासी मूल मालिकों के बारे में संवैधानिक ज्ञान नहीं है क्योंकि संविधान की पांचवी अनुसूची में उनको कितने अधिकार दिए गए हैं। ग्राम सभा के रूप में उन्हें कई अधिकार मिले हैं अगर वे वास्तव में संवैधानिक तरीके से ध्यान रखें आदिवासियों की संस्कृति के बारे में ज्ञान रखें साथ तो वे ऐसा निंदनीय बयान नहीं देती।

PunjabKesari

डॉ हीरालाल अलावा ने मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह चौहान से मांग की है कि उषा ठाकुर ने अपने विधानसभा क्षेत्र के आदिवासी बहुल इलाकों में जाकर वहां के आदिवासियों को विचित्र जगह रहने वाला बताया। ये वीडियो 9 जून का है जो मानपुर क्षेत्र का है जिसमें मंत्री ने बयान में बताया कि आदिवासी विचित्र है। उनका यह बयान बेहद निंदनीय है और आदिवासी विरोधी है और आदिवासियों का अपमान है। उन्होंने आदिवासियों के संगठन जयस को नक्सलवाद से जोड़कर पेश करने की कोशिश की है। मैं चाहता हूं कि मध्यप्रदेश की शिवराज सिंह चौहान सरकार मंत्री महोदया के इस प्रकार के बयान पर एक्शन लें। उन्हें कैबिनेट मंत्री के पद से तत्काल बर्खास्त करें अन्यथा मध्य प्रदेश सहित पूरे देश के आदिवासी इस बयान का कड़ा विरोध करेंगे और जरूरत पड़ी तो राष्ट्रीय स्तर पर आंदोलन करेंगे।

PunjabKesari

गौरतलब है की महू विधानसभा के मानपुर स्थित कालिकिराय ग्राम पंचायत की अजनार नदी में किसी ने कैमिकल डाल दिया था जिसके बाद स्थानी व् आस पास के ग्रामीणो को खेती बाड़ी के लिये साथ ही ग्राम व् जंगल के मावेशी जानवरो के लिये खासी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है साथी ही जानवरो की मौत भी हो गई है वही पूरी नदी का पानी काला व् कैमिकल युक्त हो गया है और वह अब नदी व् पहाड़ियों से बेहता हुआ धामनोद गुजरी होकर नर्बदा नदी तक पहुच सकता है अगर ऐसा हुआ तो आम जनता को खासी परेशानी उठानी पड़ सकती है जाँच अधिकारियों ने भी माना है की अजनार नदी में कैमिकल छोड़ा गया है जो उचित नहीं है जिसने भी यह कृत्य किया है उस पर कड़ी कार्रवाई होनी चाहिये।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

meena

Recommended News

static