मध्य प्रदेश में पीएफआई से जुड़े होने के आरोप में चार और लोग गिरफ्तार

9/28/2022 2:52:42 PM

भोपाल, 28 सितंबर (भाषा) मध्य प्रदेश पुलिस ने पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) से जुड़े होने के आरोप में चार और लोगों को गिरफ्तार किया है। इसके साथ ही इस मामले में गिरफ्तार लोगों की संख्या 25 हो गई है।

राज्य के गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने केंद्र सरकार द्वारा पीएफआई पर प्रतिबंध लगाने का स्वागत करते हुए इसे ‘‘इंटरनल सर्जिकल स्ट्राइक’’ करार दिया।

पुलिस सूत्रों के अनुसार, राज्य में अब तक 25 लोगों को गिरफ्तार किया गया है, जिनमें से मंगलवार को राज्य के आठ जिलों से 21 लोगों को गिरफ्तार किया गया।

मिश्रा ने बुधवार को कहा कि प्रतिबंधित संगठन राष्ट्र विरोधी गतिविधियों में शामिल था और उसके पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी इंटर सर्विसेज इंटेलिजेंस (आईएसआई) से संबंध थे।

मिश्रा ने भोपाल में पत्रकारों से कहा, ‘‘पीएफआई से संबंध होने के आरोप में चार और लोगों को गिरफ्तार किया गया है। मंगलवार को गिरफ्तार किए गए 21 लोगों सहित अब तक 25 लोगों को गिरफ्तार (मध्य प्रदेश पुलिस द्वारा) किया जा चुका है। गिरफ्तार व्यक्तियों से पूछताछ के आधार पर राज्य में पीएफआई के स्लीपर सेल के खिलाफ कार्रवाई जारी रहेगी।’’
राष्ट्रीय अन्वेषण ब्यूरो (एनआईए) ने पीएफआई के चार कार्यकर्ताओं को 22 सितंबर को मध्य प्रदेश से गिरफ्तार किया था।

मध्य प्रदेश पुलिस की यह कार्रवाई राष्ट्रीय अन्वेषण अभिकरण (एनआईए) की कार्रवाई के बाद हुई है। मिश्रा ने कहा कि पीएफआई कई राज्यों में हत्याओं और हिंसा में शामिल है। उन्होंने कहा, ‘‘यह (पीएफआई पर प्रतिबंध) एक स्वागत योग्य कदम है। पीएफआई के खिलाफ केंद्र की कार्रवाई इंटरनल सर्जिकल स्ट्राइक है। भाजपा सरकार तुष्टिकरण की राजनीति में विश्वास नहीं करती है।’’
उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार ने आतंकी गतिविधियों में संलिप्तता और आईएसआईएस जैसे आतंकवादी संगठनों से ‘‘संबंध’’ होने के कारण बुधवार को पीएफआई व उससे संबद्ध कई अन्य संगठनों पर पांच वर्ष का प्रतिबंध लगा दिया।

देश के सात राज्यों में की गई छापेमारी में मंगलवार को कथित तौर पर पीएफआई से जुड़े 150 से अधिक लोगों को हिरासत में लिए जाने के बाद यह प्रतिबंध लगा है। सोलह साल पुराने इस समूह के खिलाफ पांच दिन पहले ऐसी ही कार्रवाई की गई थी। इस दौरान उसके 100 से ज्यादा कार्यकर्ताओं को हिरासत में लिया गया था और दर्जनों संपत्तियों को जब्त किया गया था।



यह आर्टिकल पंजाब केसरी टीम द्वारा संपादित नहीं है, इसे एजेंसी फीड से ऑटो-अपलोड किया गया है।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

PTI News Agency

Related News

Recommended News